Home मध्यप्रदेश कार्य में दिखावा न करें: कलेक्टर आयुष्मान योजना में रजिस्टर्ड नहीं होने...

कार्य में दिखावा न करें: कलेक्टर आयुष्मान योजना में रजिस्टर्ड नहीं होने पर अस्पताल नहीं होगें संचालित आवारा पशु गौ-शालाओं में होगें शिफ्ट, अमृत सरोवरों की क्वालिटी चेक करें, राशन दुकानों पर 3 महीनें का रहे स्टॉक, जिले के जल स्त्रोत रहे क्रियाशील

छतरपुर जसं। कलेक्टर छतरपुर संदीप जी आर ने बुधवार को कलेक्ट्रट सभाकक्ष में टीएल बैठक की समीक्षा करते हुए कहा कि सभी एसडीएम एवं सीईओ जनपद जिले में बनाए जा रहे अमृत सरोवरों का विजिट कर साइड सेलेक्शन देखें एवं किए जा रहे कार्य की क्वालिटी चेक करें।

उन्होेंने जल निगम एवं एमपीईबी की समीक्षा करते हुए कहा कि दोंनो विभाग जल से जुड़ी योजनाओं पर क्वार्डिनेशन से कार्य करें। कलेक्टर ने बड़ामलहरा सब इंजी को बिना जानकारी के उपस्थित होने पर पटकार लगाते हुए कहा कि कार्य की जानकारी स्पष्ट होनी चाहिए। जिले में पीने के पानी की दिक्कत न हो सभी जल स्त्रोत क्रियाशील रहें। उन्होंने कहा कि हैंडपंपों के पास ही सोकपिट बने एवं आसपास पौधे लगाएं और बैठने की व्यवस्था भी करें। उन्होंने सभी एसडीएम को निर्देशित किया है कि अपने क्षेत्रों में जल समस्या निवारण कैम्प लगाएं एवं पानी से संबंधित समस्याएं निपटाएं।

उन्होंने कहा कि ग्रामों एवं नगरों का भी गौरव दिवस मनाएं एवं किस उद्देश्य पर गौरव दिवस मनाया जा रहा है यही भी स्पष्ट हो। राशन वितरण में देरी न हो समय पर सभी को राशन करें। जिन दुकानों में पर्याप्त जगह है ऐसी सभी दुकानों पर 3 महीने का स्टॉक रहे। उन्होंने कहा कि दिव्यांगजनांे की सामूहिक शादी का प्रोग्राम बनाएं और सभी दिव्यांगों के यूआईडी कार्ड बनाएं जाए।

कलेक्टर ने कहा कि ऊर्जा साक्षरता अभियान चलाकर हो रहे बिजली के वेस्ट को रोंके। इसके लिए जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए जाए एवं स्कूलों एवं कॉलेज के छात्रों में शपथ दिलाएं। स्ट्रीट लाइट दिन में न जले सभी में ऑन ऑफ का स्विच हो। उन्होंने कहा की शहर में तीन हैल्थ एण्ड वेलनेस सेंटर स्थापित होने है उनका चयन अच्छी जगह पर करें। जिससे आम जन को पहुंचने में आसानी हो। उन्होंने कहा कि जो कार्य करें उसमें पारदर्शिता दिखें, दिखावा न करें। बैठक में जिला पंचायत सीईओ ए.बी. सिंह, एडीएम प्रताप सिंह चौहान,  एसडीएम एवं जिला अधिकारी उपस्थित रहे।

सभी सरकारी गौ-शालाओं को एक्टिव करें-
कलेक्टर ने सभी एसडीएम को निर्देश दिए है कि सभी सरकारी गौ-शालाओं को एक्टिव करें एवं उसमें आवारा पशुओं को शिफ्ट करने का कार्य शुरू करें। उन्होंने नपा सीएमओ छतरपुर एवं एसीईओ जिपं को निर्देशित किया है कि शहर के सभी आवारा पशु गौ-शालाओं में शिफ्ट करें एवं उनके खाने पीने की व्यवस्था हो एवं देखभाल हेतु गौसेवक रखें जाए।

सभी निकाय नामांतरण पर दें विशेष ध्यान-
नल से समयसीमा में पहुंचाएं जल  
कलेक्टर ने पीओडूडा को निर्देश दिए कि सभी नगरीय निकाय नामांतरण से संबंधित पिछला कार्य पूर्ण करें एवं लोगांे को नामांतरण कराने में परेशानी न हो ऐसी सरल व्यवस्था बनाएं। नगरों में छूटे हुए घरों में नल से जल पहुंचाने का कार्य समय सीमा तय हो एवं इस कार्य में तेजी लाएं। जो ठेकेदार कार्य क्वालिटी पूर्ण एवं समय पर न करें उसको ब्लैक लिस्ट करें।

स्वास्थ्य विभाग की हुई समीक्षा
डिलेवरी के केस रेफर न करें
कोरोना संबंधित तैयारियों का मॉक ड्रिल कर लें-
कलेक्टर ने स्वास्थ्य विभाग एवं आयुष्मान योजना कि समीक्षा करते हुए कहा कि सभी प्राइवेट अस्पतालों का आयुष्मान योजनांर्तत रजिस्टर्ड होना अनिवार्य है। जो रजिस्टर्ड नहीं करा रहे हैं वो रजिस्टर्ड हो जाएं एवं आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए काउंटर भी स्थापित करें, जिससे आम जन को योजना का लाभ आसानी से मिल सके और उनका योजनांतर्गत इलाज हो सके। नहीं तो अस्पताल की एनओसी और रजिस्ट्रेशन रद्द कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि सभी बीएमओ आयुष्मान कार्ड बनाने में निरंकुशता न बरते। सभी की जीआरएस आईडी एक्टिव रहे एवं परफोर्मेंस में सुधार लाएं। उन्होंने सीईओ व सीएमओ बड़ामलहरा और राजनगर को आयुष्मान कार्ड बनाने की कम प्रगति पर सोकॉज नोटिस जारी करने के निर्देश दिए है।

कलेक्टर ने कहा कि ब्लॉक लेबल से किसी भी महिला को डिलेवरी के लिए रेफर न करंे तथा जिले से भी किसी को रेफर न करें। उन्होंने कहा कि जहां डिलेवरी की सुविधा है वहीं डिलेवरी करें। वही पर सभी जरूरी व्यवस्थाएं करें। उन्होंने कहा कि सभी बीएमओ इस कार्य को गंभीरता से लें। उन्होंने कोरोना गतिविधियों की समीक्षा करते हुए कहा कि सभी ब्लॉक लेवल पर ऑक्सीजन कन्संट्रेशन एवं सभी सेवाओं का मॉकड्रिल कर लंे। सभी उपकरण वर्किंग मोड में रहें। सभी अपने दायित्वों को अभी से समझलें।
कलेक्टर ने सीएम हेल्पलाइन शिकायतों की समीक्षा करते हुए कहा कि 50 दिवस से अधिक समय की शिकायतों को नॉन अटेंड करने पर संबंधित एससीएन जारी कर वेतन काटने की कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने कहा कि सीएम हेल्पलाइन की शिकायतों के निराकरण में परफोर्मेंन दिखाएं।

कलेक्टर ने सीएम हेल्पलाइन में कम परफोर्मेंनश होने पर बिजावर एवं राजनगर सीईओ एवं निर्वाचन शाखा को भी शिकायतों में भविष्यात्मक उत्तर डालने पर 2 दिन का वेतन काटने एवं सो कॉज नोटिस जारी करने के निर्देश दिए है। उन्होंने घुवार तहसीलदार को भी सो कॉज नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि एसडीएम ऐसे ग्रामों का भ्रमण करें जहां ज्यादा शिकायतें हो और उनका निराकरण करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

खून से लथपथ मिली थी पल्लेदार की लाश, परिजनों को हत्या की आशंका

मध्यप्रदेश। दमोह जिला मुख्यालय के नया बाजार नंबर 3 में रहने वाले एक बुजुर्ग पल्लेदार का शव कचोरा...

मजदूरी कर लौट रहा था युवक, आरोपी ने गाली देकर शुरू किया विवाद, मारी चाकू

मध्यप्रदेश। दमोह कोतवाली थाने के बड़ापुरा इलाके में रविवार रात मजदूरी कर लौट रहे युवक को पड़ोसी ने...

फूड पॉइजनिंग से 2 बच्चियों की मौत, 12 की हालत गंभीर

मध्यप्रदेश। छिंदवाड़ा जिले के पांढुर्णा में फूड पॉइजनिंग से दो बच्चियों की मौत हो गई। दोनों ने शादी...

धर्मांतरण मामले में गृहमंत्री का एक्शन, इंटेलिजेंस को प्रदेश के सभी मिशनरी स्कूल पर नजर रखने को कहा

मध्यप्रदेश। भोपाल में सामने आई धर्मांतरण की घटना के बाद मध्यप्रदेश में संचालित सभी मिशनरी स्कूल सरकार की...

Recent Comments

%d bloggers like this: