Home मध्यप्रदेश कोटा-जबलपुर को पुन: चालू करने लगातार उठ रही मांग, ग्रामीणों ने महाप्रबंधक...

कोटा-जबलपुर को पुन: चालू करने लगातार उठ रही मांग, ग्रामीणों ने महाप्रबंधक व मंडल रेल प्रबंधक के नाम स्टेशन मास्टर को कई बार सौंपा ज्ञापन, लेकिन जिम्मेदार नहीं दे रहे ध्यान

मध्यप्रदेश। कटनी जिले रीठी निवासी एक वर्ष से भी अधिक समय से बंद कोटा-जबलपुर ट्रेन को पुन: चालू करने की मांग ने अब जोर पकड़ लिया है। गौरतलब है कि कटनी-बीना रेल खंड के सलैया, बकलेहटा, रीठी, पटौंहा, हरदुआ सहित पड़ोसी जिला पन्ना के रहवासीयों के लिए जबलपुर आने-जाने के लिए एकमात्र सुगम साधन कोटा-जबलपुर ट्रेन का था। जिससे महाविद्यालयों में पढ़ाई कर बच्चे भी अप डाउन कर अपनी पढ़ाई पूरी कर रहे थे। लेकिन कोरोना वैश्विक महामारी के कारण देश में लाकडाउन के कारण रेल प्रशासन ने उक्त ट्रेन को बंद कर दिया है। बताया गया कि एक वर्ष से भी अधिक का समय गुजर जाने के बाद भी उक्त साधन को रेलवे द्वारा पुन: चालू नही किया जा रहा है। जिससे क्षेत्र के सैकड़ों गांव के यात्रियों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

विगत कई बार रीठी क्षेत्र के रहवासियों द्वारा रेलवे स्टेशन के स्टेशन मास्टर को महाप्रबंधक पश्चिम मध्य रेल व मंडल रेल प्रबंधक के नाम ज्ञापन पत्र सौंप कर कोटा-जबलपुर को पुन: चालू करने व नैनपुर तक बढाये जाने की मांग की गई, लेकिन उन मांगों पर न तो रेल्वे ने ध्यान दिया और न ही सत्ताधारी सरकार ने। ग्रामीणों द्वारा ज्ञापन के माध्यम से रेल प्रशासन को बताया गया था है कि कटनी-दमोह खंड के ग्रामीण स्टेशनों से कटनी या जबलपुर आने-जाने के लिए कार्यालीन समय पर एकमात्र कोटा-जबलपुर 19809-10 गाड़ी उपलब्ध थी। लेकिन जब से इस गाड़ी को बंद किया गया है तब से इस क्षेत्र के लोगों को बहुत परेशानी हो रही है। साथ ही पत्र के माध्यम से रेल प्रशासन को यह भी बताया गया कि इस ट्रेन को नैनपुर तक बढा दिये जाने से इसकी उपयोगिता और बढ जाएगी। लेकिन रेल्वे द्वारा लगातार ग्रामीणों की बातों को अनसुना किया जा रहा है।

दस मिनट के अंतराल में वापिस ट्रेन-
बताता गया कि वर्तमान में इस खंड में उपलब्ध एक मात्र मेमो गाड़ी बीना-कटनी 06621 के समय में जो परिवर्तन किया गया है वह स्वागत योग्य है। लेकिन कटनी-बीना 06623 का जो समय परिवर्तन किया गया है। उक्त गाड़ी को जो कटनी से दोपहर 12 बजे प्रस्थान का समय निर्धारित किया गया है। उससे इस गाड़ी की उपयोगिता टोटल खत्म हो गई है। यदि कोई यात्री बीना-कटनी से सुबह 11:50 पर कटनी पहुंचा है तो वह कोई भी कार्य निपटाकर पुन: दस मिनट बाद दोपहर 12 बजे उक्त गाड़ी से वापस नही आ पाता। जिससे जनता को कोई लाभ नही मिल रहा है, और न ही यह किसी काम की है। ग्रामीणों ने कटनी-बीना 06622 का कटनी से प्रस्थान का समय पूर्व की भांति शाम 5 बजे किये जाने की मांग की है। साथ ही कोटा-जबलपुर को चालू कर पटौंहा स्टेशन पर स्टॉपेज की भी मांग की गई है।

मंहगाई के कारण बसों का दोगुना किराया-
जबलपुर अप-डाउन कर रहे लोगों का कहना है कि कोटा-जबलपुर ट्रेन चालू न होने से उन्हे बसों में मंहगा सफर करना मजबूरी बन गया है। पेट्रोल-डीजल की बढी कीमतों के कारण बसों का किराया भी बढ गया है। जिससे अब जबलपुर आने-जाने में जेब का बजट बिगड़ रहा है। तो वहीं जबलपुर जाकर पढाई करने वाले विद्यार्थीयों ने बीच में ही अपनी पढाई रोक रखी है। यदि कोटा-जबलपुर ट्रेक को पुन: चालू कर दिया जाता तो यात्रियों को सुविधा मिल जाती।

विंध्याचल का भी नहीं है स्टॉपेज-
बताया गया कि इटारसी-भोपाल विंध्याचल एक्सप्रेस को पुन: पटरी पर दौड़ाया तो जा रहा है लेकिन उक्त गाड़ी का रीठी व सलैया स्टेशन में स्टापेज न होने के कारण क्षेत्रीय लोगों को रेल सुविधा का लाभ नहीं मिल पा रहा है। राजधानी भोपाल आने-जाने के सुगम साधन को भी रेलवे द्वारा क्षेत्रीय जनो से छीन लिया गया है। विंध्याचल ट्रेन तो चालू है लेकिन रीठी व सलैया स्टेशन मे स्टाप नही है।

इनका कहना-
लोकसभा के सांसद जब से जीत कर गये हैं तबसे जिले एवं क्षेत्र के लिए कुछ नहीं कर रहे हैं। क्षेत्र की एकमात्र सुविधाजनक ट्रेन जो कि कटनी एवं जबलपुर सुबह के वक्त पहुंचाती थी। वह भी बंद है जबकि संपूर्ण देश की सभी ट्रेनें चालू हो गई हैं। लेकिन भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद के क्षेत्र की यह ट्रेन जबलपुर से आज भी बंद पड़ी है। वहीं विंध्याचल एक्सप्रेस का रीठी सलैया में स्टॉपेज नहीं है। कटनी बीना पैसेंजर ट्रेन व कटनी चिरमिरी पैसेंजर ट्रेन बंद है।
महेंद्र जैन, अध्यक्ष रेल संघर्ष समिति रीठी

रीठी से जबलपुर आने-जाने के लिए एकमात्र कोटा-जबलपुर ट्रेन का सुगम साधन था, जिसे करीब डेढ वर्ष से रेल्वे द्वारा बंद कर रखा गया है। यदि कोटा-जबलपुर ट्रेन को पुन: चालू कर दिया जाये तो क्षेत्रीय लोगों आवागम के लिए एक अच्छा साधन मिल जाएगा।
मुकेश कंदेले, रीठी निवासी

कटनी-बीना रेल खंड के रीठी रेल्वे स्टेशन में ट्रेनों के स्टॉपेज न होने से क्षेत्रीय यात्रियों के साथ-साथ अप-डाउन कर बड़े-बड़े शहरों में अपनी पढाई कर रहे क्षेत्र के होनहार विद्यार्थियों को भी भारी परेशानियो का सामना करना पड़ रहा है। यदि रीठी रेल्वे स्टेशन पर प्रमुख ट्रेनो का पुन: स्टॉपेज हो जाता तो यात्रियों को सुविधा मिल जाती।

(कटनी ब्यूरो विनोद दुबे की रिपोर्ट)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

ब्रेकिंग न्यूज: कांग्रेस पार्टी ऑटो चालकों की समस्या दूर करने आई आगे, बैठक में ऑटो चालको ने बताई अपनी परेशानियां

मध्यप्रदेश। कटनी शहर के ऑटो चालक इन दिनों आरटीओ विभाग द्वारा आए दिन दी जाने वाली आर्थिक प्रताड़ना...

विचार व विवेक: नास्तिकता और विज्ञानवाद में भेद है

डेस्क न्यूज। पृथिवी के प्रत्येक देश में कोई न कोई एक ऐसा आध्यात्मिक विचारक उत्पन्न हुआ है कि...

सवारियों से भरी बस और ट्रक की आमने सामने भिड़ंत, कई यात्री घायल, टला बड़ा हादसा

मध्यप्रदेश। कटनी जिले में बड़ा हादसा घटित हुआ है। यहां बस ट्रक की आमने सामने भिड़ंत में कुछ...

बड़ी खबर: प्रधानमंत्री आवास परियोजना का फर्जी अधिकारी गिरफ्तार, आरोपी के कब्जे से प्रेस माईक आईडी सहित अन्य सामान बरामद, गुलवारा में हुई वारदात...

कटनी। प्रधानमंत्री आवास योजना का फर्जी आवास परियोजना अधिकारी बनकर कई जिलों में लोगों के साथ ठगी करने...

Recent Comments

%d bloggers like this: