Home मध्यप्रदेश कोविड की तीसरी लहर की तैयारियों के संबंध में मुख्यमंत्री ने वर्चुअली...

कोविड की तीसरी लहर की तैयारियों के संबंध में मुख्यमंत्री ने वर्चुअली समीक्षा की, कमांड सेंटर की व्यवस्था संक्रमितों को किट देने और टेस्टिंग व्यवस्था को सुदृढ़ करें, न्यू वेरिएंट का असर गले तक ही सीमित है लंग्स में कम है संक्रमण, जनता घबराएं नहीं, लोगों की जिदंगी बचाना सर्वोच्च प्राथमिकता

छतरपुर जसं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार 14 जनवरी कोे जिला, विकासखण्ड, वार्ड तथा ग्राम स्तरीय क्राइसिंस मैनेजमेंट की बैठक में कोविड की तीसरी लहर की तैयारियों के संबंध में जिलों से वर्चुअली रूप में चर्चा की। उन्होंने जिन जिलों में केस अधिक है वहा समुचित व्यवस्था बनाने और  उपाय की जानकारी ली।

उन्होंने कहा कि कमांड सेंटर की व्यवस्था, संक्रमितों को किट देने और टेस्टिंग व्यवस्था को सुदृढ़ करें। शासन समाज मिलकर लोगों की सुरक्षा तय करें सजग रहे और व्यवस्थाओं को सामाजिक हित में बेहतर करें तीसरी लहर चुनौती है संक्रमण केस तेजी से बढ़ने की संभावना है। यह तथ्य दुनिया की तरफ से आया है। इसीलिए सजग और सर्तक रहना होगा। न्यू वेरिएंट का असर गले तक सीमित है। लंग्स तक इसका प्रभाव कम है। हमे पूरी सजगता से मुकाबला करते हुये की महामारी से जीतेगं यह हमारा संकल्प है। आईसीयू, एमरजेंसी, ऑक्सीजन बेड, जनरल बेड और बचाव के उपकरण क्रियाशील रहे। संसाधनों की कमी नहीं होगी, जनता घबराएं नहीं, लोगों की जिदंगी बचाना सर्वोच्च प्राथमिकता है।

एसीएस श्री सुलेमान द्वारा कोविड की तीसरी लहर की स्थिति परिस्थिति पर प्रजेंटेशन देते हुये संक्षिप्त में जिलों में व्याप्त संक्रमण की स्थिति की जानकारी दी गई। इस दौरान केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया और प्रदेश के सासंदगण और चंदला विधायक राजेश प्रजापति, पूर्व मंत्री श्रीमती ललिता यादव, कलेक्टर संदीप जी आर, पुलिस अधीक्षक सचिन शर्मा सहित ग्रुप के सदस्य, प्रशासनिक एवं स्वास्थ्य अधिकारी उपस्थित रहे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोविड संक्रमण बचाव में होमआईसोलेशन व्यवस्था सबसे अधिक महत्वपूर्ण है। इसे सुदृढ़ बनाते हुये इस व्यवस्था को अधिक कारगर बनाने के लिये क्या-क्या सावधानी रखी जाये। जिला आपदा प्रबंधन समिति तय करें। टीकाकरण से बचे लोगों को खोजते हुये टीका लगाये। बचाव में टीका ही हमारा प्रमुख कवच है।

टेस्टिंग से लक्ष्य 100 फीसदी हो
उन्होंने जोर देते हुये कहा कि जिले में टेस्टिंग टीकाकरण का लक्ष्य 100 फीसदी हासिल करें। जिले के प्रभारी मंत्री और जनप्रतिनिधि समीक्षा करें। ग्राम स्तर की समिति सर्दी, जुखाम से पीड़ित व्यक्तियों का सेंपल टेस्ट कराये। ग्राम स्तरीय टीम हरेक व्यक्ति को टीका लगवाये, घर-घर दस्तक दें। जिले में पर्याप्त मात्रा में फीवर क्लीनिक क्रियाशील हो।

उन्होंने निर्देश दिये कि टेस्टिंग रिपोर्ट उपलब्ध हो। संभागीय कमिश्नर सुनिश्चित करें, जिन्हे होम आईसोलेशन में रखा गया है। उन्हें मेडीकल किट देते हुये दवा का सेंवन कराने का परामर्श दें। जिन लोगों में लक्षण अधिक पाये जाते है उन्हे कोविड केयर सेंटर या जरूरत अनुसार चिकित्सालय भेजे। उनके लिये एम्बुलेंस तैयार रखे। ब्लॉक में कोविड के सेंटर भी क्रियाशील अवस्था रहे। आम लोगों में कोविड के अनुरूप व्यवहार पालन करने के लिये जागरूक बनाये और हरेक व्यक्ति मास्क लगाये।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जिले में निजी अस्पताल को कलेक्टर अनुबंधित करें और उपचार के लिये तैयार रखे। पैकेज के अनुसार रेट लिस्ट चस्पा करें। जिले के एक माह की दवाईयों का स्टाक रखे।

मुख्यमंत्री ने लिये निर्णय-
मुख्यमंत्री ने क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में कोविड को रोकने हेतु महत्वपूर्ण निर्णय लिये। कोविड के वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए 15 जनवरी से 31 जनवरी तक कक्षा 1 से लेकर कक्षा 12 तक के सभी स्कूल बंद रहेंगे।

सभी प्रकार के वाणिज्यिक या धार्मिक मेलों पर प्रतिबंध रहेगा। कोई जुलूस और रैली नहीं निकलेंगी। राजनीतिक या सामाजिक सभा भी प्रतिबंधित रहेगी। हॉल के अंदर होने वाले कार्यक्रम में हॉल की क्षमता की 50 प्रतिशत उपस्थिति सुनिश्चित की जाए। समस्त राजनीतिक, धार्मिक, शैक्षणिक, मनोरंजन आदि कार्यक्रम अगर खुले में आयोजित किये जाते हैं तो अधिकतम संख्या ढाई सौ रहेगी।
बड़ी रैली, बड़ी सभा, बड़े आयोजन प्रतिबंधित रहेंगे। सभी प्रकार की खेल गतिविधियां बिना दर्शकों के की जा सकेंगी। प्री-बोर्ड की परीक्षाएं 20 जनवरी से किया जाना प्रस्तावित था उन परीक्षाओं को टेक होम एग्जाम के रूप में आयोजित किया जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

ग्राम पंचायत हनुखेड़ा के सरपंच और सचिव ने मठया तलाब और रत्ना तलाब मे गुड़वत्ताहीन कराया गया पूर्ण घाट निर्माण, जिम्मेदार प्रशासनिक अधिकारियो द्वारा...

मध्यप्रदेश। छतरपुर जिले के गौरिहार जनपद अंतर्गत ग्राम पंचायत हनुखेड़ा मे घाट निर्माण का कार्य सरपंच और सचिव...

छतरपुर जिले का कोरोना अपडेट: जिले में मंगलवार को 66 कोरोना पॉजिटिव केस निकले

मध्यप्रदेश। मंगलवार को जिले में 66 कोरोना पॉजिटिव केस निकले, राजनगर में 31 केस,शहर में 20 केस, नोगांव...

प्रिंसिपल और प्रोफेसर के बीच जमकर हुई मारपीट, उज्जैन के कॉलेज में एक-दूसरे को जमकर चले लात-घुसे, दर्ज हुई FIR

मध्यप्रदेश। उज्जैन में कॉलेज के प्रिंसिपल और प्रोफेसर ने एक-दूसरे को जमकर पीट दिया। बात कहासुनी से शुरू...

Recent Comments

%d bloggers like this: