Home खबरों की खबर अन्य खबरे जल संसाधन विभाग में तबादले, 23 कार्यपालन यंत्री इधर से उधर किए,...

जल संसाधन विभाग में तबादले, 23 कार्यपालन यंत्री इधर से उधर किए, ड्रिप के प्रभारी संचालक अजय खोसला को उज्जैन भेजा, एससी पटेल को गंगा कछार रीवा की जिम्मेदारी

भोपाल। मध्यप्रदेश में तबादलों पर रोक लगाने के एक सप्ताह पहले जल संसाधन विभाग ने 23 इंजीनियरों के तबादले कर दिए हैं। यह आदेश विभागीय मंत्री तुलसी सिलावट की मंजूरी के बाद 23 जुलाई को किए गए थे, लेकिन रविवार को जारी किए गए। भोपाल चीफ इंजीनियर कार्यालय में पदस्थ ड्रिप योजना के प्रभारी संचालक अजय खोसला को उज्जैन में पदस्थ किया गया है।

आदेश के मुताबिक आयुक्त कार्यालय में पदस्थ भू-अर्जन एवं पुनर्वास बाणसागर परियोजना के कार्यपालन यंत्री सरस चंद्र शर्मा को गुना भेजा गया है। इसी तरह, अनूपपुर में पदस्थ कार्यपालन यंत्री एससी पटेल को रीवा मुख्य अभियंता कार्यालय में गंगा कछार प्रोजेक्ट की जिम्मेदारी दी गई है।

बता दें कि मध्य प्रदेश में 31 जुलाई तक तबादले होने हैं। सरकार ने तबादलों से रोक एक महीने के लिए हटाई है, लेकिन अभी तक पीडब्ल्डूी और उच्च शिक्षा विभाग ने एक-एक सूची जारी की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

मृतक महिला के परिजनों ने लगाए हत्या के आरोप,छत्रसाल चौक पर परिजनों ने किया चक्का जाम, पुलिस की समझाइश के बाद खोला गया जाम

मध्यप्रदेश। छतरपुर जिला मुख्यालय पर मृतक महिला की मां निर्मला कोरी ने आरोप लगाते हुए कहा है...

प्रदेश में खाद की त्राहि-त्राहि, पर मुख्यमंत्री मौन?, बतायें कालाबाजारियों को संरक्षण दे रहा है कौन?: रवि सक्सेना

भोपाल। मध्यप्रदेश कांग्रेस के महामंत्री और वरिष्ठ प्रवक्ता रवि सक्सेना ने कहा मध्यप्रदेश के किसान इस समय...

कलेक्टर ने राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम की समीक्षा, टीबी मरीजों के बेहतर उपचार के लिए दिए निर्देश

छतरपुर जसं। कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में शनिवार को राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम...

कमिश्नर कार्यालय में फरियादी ने खाया जहर, फंड और पेंशन का पैसा न मिलने से था परेशान, कमिश्नर से समस्या बताने के बाद खा...

कमिश्नर कार्यालय में फरियादी ने खाया जहर। उत्तरप्रदेश। बांदा जिले में फंड और पेंशन...

Recent Comments

%d bloggers like this: