Home खबरों की खबर अन्य खबरे डेढ़ घंटे से ज्यादा चली मोदी-उद्धव मीटिंग, बाहर आकर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री...

डेढ़ घंटे से ज्यादा चली मोदी-उद्धव मीटिंग, बाहर आकर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री बोले- प्रधानमंत्री से मिलने में गलत क्या है?

मुंबई। मराठा आरक्षण, तूफानों से हुए नुकसान और वैक्सीनेशन जैसे कई अहम मुद्दों पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। खास बात ये थी कि एक दिन पहले मुलाकात का शेड्यूल हुआ और दोनों ने मीटिंग अकेले में की।

ये बातचीत काफी लंबी चली, करीब एक घंटा चालीस मिनट तक। सवाल भी हुए तो उद्धव ने कहा, ‘भले ही राजनीतिक रूप से साथ नहीं हैं, लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि हमारा रिश्ता खत्म हो गया है। मैं कोई नवाज शरीफ से थोड़े ही मिलने गया था। यदि मैं उनसे व्यक्तिगत मुलाकात करता हूं तो इसमें क्या गलत है?’

मुख्यमंत्री बनने के बाद उद्धव की मोदी से दूसरी मुलाकात-
उद्धव जब मोदी से मिलने पहुंचे तो 7 लोक कल्याण मार्ग स्थित PM आवास पर डिप्टी CM अजित पवार और मंत्री अशोक चव्हाण भी मौजूद थे। लेकिन, मोदी से मुलाकात के दौरान केवल उद्धव ही मौजूद थे। उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री बनने के बाद दूसरी बार प्रधानमंत्री से मिलने दिल्ली पहुंचे थे। दोनों की पहली मुलाकात 6 दिसंबर 2019 को हुई थी। मोदी पुणे में होने वाले DGP और IGP कॉन्फ्रेंस में हिस्सा लेने के लिए पुणे पहुंचे थे। PM मोदी ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के साथ कॉन्फ्रेंस में हिस्सा लिया था।

यह तस्वीर CM उद्धव ठाकरे के दिल्ली एयरपोर्ट से बाहर निकलते समय की है।

मोदी और उद्धव की मुलाकात के 5 अहम पॉइंट-
1- मराठा आरक्षण के मुद्दे पर चर्चा हुई
2 – मेट्रो कार शेड परियोजना-3 के लिए जगह की मांग
3 – क्रॉप इंस्योरेंस के मुद्दे पर बात हुई
4 – NDRF के क्षतिपूर्ति के नियमों में ढील देने की मांग
5 – मराठी भाषी लोगों को एलीट क्लास में रखा जाए

केंद्र सकारात्मक भूमिका निभाए: चव्हाण-
मराठा आरक्षण उपसमिति के अध्यक्ष अशोक चव्हाण ने मीटिंग के बाद कहा कि मराठा आरक्षण और OBC आरक्षण को लेकर केंद्र सरकार को सकारात्मक भूमिका निभानी चाहिए। डिप्टी CM अजित पवार ने GST पर कहा कि हमारा 24 हजार करोड़ रुपए का हिस्सा मिलना बाकी है, इसे जल्द दिया जाना चाहिए।

मराठा आरक्षण पर मदद मांगी-
सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में मराठा आरक्षण के प्रस्ताव को खारिज कर दिया है। उद्धव इस मसले पर प्रधानमंत्री मोदी की मदद चाहते हैं। मराठा आरक्षण पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले की समीक्षा के बाद इलाहाबाद उच्च न्यायालय के पूर्व मुख्य न्यायाधीश दिलीप भोसले ने अपनी रिपोर्ट महाराष्ट्र सरकार को सौंप दी है। इसमें पुनर्विचार याचिका दायर करने की सिफारिश है।

गुजरात की तर्ज पर महाराष्ट्र को भी मिले मुआवजा-
CM उद्धव ठाकरे स्पेशल प्लेन से दिल्ली पहुंचे। CM उद्धव चाहते हैं कि ताउ ते तूफान से हुए नुकसान की भरपाई के लिए गुजरात की तर्ज पर महाराष्ट्र को भी 1 हजार करोड़ का मुआवजा मिले।

एक दिन पहले पवार से की मुलाकात-
PM के साथ होने वाली इस मुलाकात से पहले CM ने सोमवार देर शाम NCP चीफ शरद पवार से मुलाकात की। 15 दिनों के दौरान दोनों नेताओं की यह दूसरी बैठक हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

रोडवेज बस से कुचले बच्चे की मौत, सड़क पर शव ऱखकर जमकर काटा हंगामा

उत्तरप्रदेश। हमीरपुर जिले में बीते रविवार को सदर कोतवाली क्षेत्र के बस स्टैंड में कुरारा की ओर...

कोविड-19 वैक्सीन महाअभियान गढ़ीमलहरा में निकली रैली

छतरपुर ज.सं। कोरोना संक्रमण से बचाव एवं कोविड-19 संक्रमण के वैक्सीनेशन के प्रति लोगो को लोगो को...

एक संक्रमित हुआ डिस्चार्ज

छतरपुर ज.सं। छतरपुर जिले में शनिवार को 01 कोविड संक्रमित मरीज को खजुराहो कोविड केयर सेंटर से...

प्राचार्य ने टीकाकरण कराने की अपील की

छतरपुर ज.सं। शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय क्रमांक-1 छतरपुर के प्राचार्य एस.के. उपाध्याय ने छात्रों, उनके माता-पिता सहित जिले...

Recent Comments

%d bloggers like this: