Home उत्तरप्रदेश तीन बांग्लादेशी हथियार तस्कर गिरफ्तार, पुलिस ने कहा असलहों की बिक्री कर...

तीन बांग्लादेशी हथियार तस्कर गिरफ्तार, पुलिस ने कहा असलहों की बिक्री कर विधानसभा चुनाव में गड़बड़ी करने का था मकसद

उत्तरप्रदेश। झांसी में अवैध रूप से रह रहे तीन हथियार तस्कर बांग्लादेशी युवकों को पुलिस ने शुक्रवार रात को मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया है। उनके दो आरोपी भागने में सफल हो गए। पुलिस ने शनिवार दोपहर को मामले का खुलासा करते हुए दावा है कि वे करीब एक माह पहले ही अवैध रास्ते से भारत आए थे। उनका उद्देश्य असलहों की बिक्री कर उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव में गड़बड़ी करना था।

उनके कब्जे से 315 बोर के दो तमंचे, तीन जिंदा कारतूस और दो खोखा कारतूस, फर्जी तरीके से बनवाया गया भारतीय आधार कार्ड और एक भारतीय डीएल बरामद हुए हैं। आरोपियों की शिनाख्उत बांग्लादेश के भगरठ खुलना निवासी सुलेमान उर्फ जिलमन (35) पुत्र अब्दुल सत्तर, अलामीन उर्फ मिन्टू (34) पुत्र हमीद अंकून और बांग्लादेश के भागेर हट निवासी जाकिर खान उर्फ असलम (45) पुत्र अबुल कलाम के रूप में हुई है।

नोएडा एसटीएफ को मिली थी सूचना
एसपी सिटी विवेक त्रिपाठी ने बताया कि नोएडा एसटीएफ को सूचना मिली थी कि कुछ बांग्लादेशी नागरिक अवैध रास्ते से भारत में प्रवेश कर झांसी में अवैध रूप से हथियार बेचने का काम कर रहे हैं। चुनाव के दौरान अवैध हथियार बेचकर रुपए कमाना चाहते हैं और चुनाव को प्रभावित कर सकते हैं।
नोएडा एसटीएफ और झांसी पुलिस की संयुक्त टीम ग्वालियर रोड पर रक्सा तिराहा के पास पहुंची। वहां पर आरोपियों ने ताबड़तोड़ फायर किए। बाद में पुलिस मुठभेड़ में तीन तस्करों को गिरफ्तार कर लिया, जबकि दो आरोपी अंधेरे का फायदा उठाकर भाग गए।

आधार पर नई दिल्ली का पता, डीएल गाजियाबाद में बना-
आरोपी अलामीन उर्फ मिंटू के कब्जे से पुलिस ने 315 बोर का एक देसी तमंचा, दो जिंदा व एक खोखा कारतूस बरामद किया। साथ ही उससे एक फर्जी आधार कार्ड बरामद किया गया है, जो मकान नम्बर 60/95 गली नंबर 3 नई सम्भापुर गुजरान करावल नगर उत्तर पूर्वी दिल्ली के पते पर बना हुआ है। वहीं, जाकिर खान से एक देसी तमंचा, एक जिंदा और एक खोखा कारतूस और एक ड्राइविंग लाइसेंस बरामद किया है। आरोपी के नाम पर ड्राइविंग लाइसेंस आरटीओ गाजियाबाद कार्यालय से जारी हुआ है।

कई बार बॉर्डर पार करके आ चुके थे भारत
एसपी सिटी के अनुसार, पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि आधार कार्ड गुरुजी नाम के युवक ने बनवाया था। अब वे झांसी के पते पर अपना आधार कार्ड बनवाने का प्रयास कर रहे थे। इसके लिए गुरुजी ने चार हजार रुपए लिए थे। वहीं, ड्राइविंग लाइसेंस एजेंट के माध्यम से बनवाया था। पहले भी कई बार आरोपी अवैध रूप से फरक्का जिले की ओर से बॉर्डर पार करके भारत आ चुके हैं, लेकिन कभी पकड़े नहीं गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

छतरपुर जिले का कोरोना अपडेट: जिले में मंगलवार को 66 कोरोना पॉजिटिव केस निकले

मध्यप्रदेश। मंगलवार को जिले में 66 कोरोना पॉजिटिव केस निकले, राजनगर में 31 केस,शहर में 20 केस, नोगांव...

प्रिंसिपल और प्रोफेसर के बीच जमकर हुई मारपीट, उज्जैन के कॉलेज में एक-दूसरे को जमकर चले लात-घुसे, दर्ज हुई FIR

मध्यप्रदेश। उज्जैन में कॉलेज के प्रिंसिपल और प्रोफेसर ने एक-दूसरे को जमकर पीट दिया। बात कहासुनी से शुरू...

राघोगढ़ विधायक जयवर्धन सिंह हुए कोरोना संक्रमित

भोपाल। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के पुत्र और राघोगढ़ विधायक जयवर्धन सिंह कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं। उन्होंने...

Recent Comments

%d bloggers like this: