Home खबरों की खबर अन्य खबरे देश ने इतिहास रचा, कोरोना वैक्सीन के 100 करोड़ डोज हुए पूरे,...

देश ने इतिहास रचा, कोरोना वैक्सीन के 100 करोड़ डोज हुए पूरे, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल पहुंचकर हेल्थकेयर वर्कर्स से बात की

राम मनोहर लोहिया अस्पताल में स्वास्थ्य मंत्री ने प्रधानमंत्री मोदी का स्वागत किया।

नई दिल्ली। देश ने कोरोना वैक्सीन के 100 करोड़ डोज का आंकड़ा आज सुबह 9.47 बजे पूरा कर इतिहास रच दिया है। देश में 16 जनवरी से कोरोना वैक्सीनेशन की शुरुआत हुई थी और आखिरी 20 करोड़ डोज 31 दिन में लगे हैं। बता दें देश की 75% युवा आबादी को कम से कम एक डोज लग चुका है और 31% आबादी को दोनों डोज लग चुके हैं।
वैक्सीन के 100 करोड़ डोज पूरे होने का ऐलान करने के लिए सरकार ने खास तैयारियां की हैं। इसके लिए ट्रेन, प्लेन और जहाजों पर लाउडस्पीकर से घोषणा की जा रही है। साथ ही 100% वैक्सीनेशन पूरा कर चुके गांवों से कहा गया है कि उन्हें पोस्टर और बैनर लगाकर हेल्थ वर्कर्स का सम्मान करना चाहिए।

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ के सरस्वती शिशु मंदिर स्थित वैक्सीनेशन सेंटर जाकर हेल्थकेयर वर्कर्स और वैक्सीन लगवाने वालों से मुलाकात की है।

100 करोड़ डोज पूरे होने के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिल्ली के राम मनोहर लोहिया (RML) अस्पताल पहुंचे। वे यहां करीब 20 मिनट रहे। इस दौरान उन्होंने हेल्थकेयर वर्कर्स से बात की। कुछ दिव्यांगों और अस्पताल के सुरक्षाकर्मी और दूसरे स्टाफ से भी बात की।
बताया जा रहा है कि BJP नेताओं को भी वैक्सीनेशन सेंटर्स पर जाकर हेल्थ वर्कर्स का सम्मान करने के लिए कहा गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा गाजियाबाद, महासचिव अरुण सिंह कोयंबटूर और महासचिव दुष्यंत गौतम लखनऊ जाएंगें।

100 करोड़ डोज पूरे होने पर पूरे देश में जश्न-
स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया आज एक थीम सॉन्ग और फिल्म लॉन्च करेंगे। ये कार्यक्रम दोपहर 12.30 बजे लाल किले पर रखा गया है। बताया जा रहा है कि इस गाने में गाना कैलाश खेर ने आवाज दी है। न्यूज एजेंसी PTI के मुताबिक लाल किले पर 1400 किलो का देश का सबसे बड़ा तिरंगा लगाने की भी उम्मीद है।

अब तक कैसी रही वैक्सीनेशन की रफ्तार?-
देश में 16 जनवरी से वैक्सीनेशन अभियान की शुरुआत हुई। शुरुआती 20 करोड़ वैक्सीन डोज 131 दिन में लगे। अगले 20 करोड़ डोज 52 दिन में दिए गए। 40 से 60 करोड़ डोज देने में 39 दिन लगे। 60 करोड़ से 80 करोड़ डोज देने में सबसे कम, महज 24 दिन लगे।
अब 80 करोड़ से 100 करोड़ होने में 31 दिन लगे हैं। यानी अब रफ्तार कम हो गई है। अगर इसी रफ्तार से वैक्सीनेशन होता रहा तो देश में 216 करोड़ वैक्सीन डोज लगने में करीब 175 दिन और लगेंगे। यानी, 5 अप्रैल 2022 के आसपास ये आंकड़ा हम पार कर सकते हैं।

स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने सोशल मीडिया के जरिए 100 करोड़ डोज पूरे होने की बधाई दी है।

मास्क फ्री होने के लिए अभी करना होगा इंतजार-
हमने भले ही 100 करोड़ डोज लगाने के करीब हैं, लेकिन देश की महज 20% आबादी ही पूरी तरह वैक्सीनेट हुई है। 29% आबादी को वैक्सीन की एक डोज दी जा चुकी है। ऐसे में मास्क फ्री होने के लिए हमें अभी इंतजार करना होगा।
महामारी एक्सपर्ट डॉक्टर चंद्रकांत लहारिया कहते हैं कि जब तक 85% आबादी पूरी तरह वैक्सीनेट नहीं हो जाती तब तक ऐसा करना खतरनाक हो सकता है। जिन देशों में मास्क से छूट दी गई है वहां जनसंख्या घनत्व भारत की तुलना में काफी कम है। ऐसे में हमें अपनी जरूरतों को हिसाब से ही फैसला लेना चाहिए।

ब्रोकरेज फर्म यश सिक्योरिटीज की एक रिपोर्ट के मुताबिक जनवरी तक देश की 60 से 70% आबादी पूरी तरह वैक्सीनेटेड हो जाएगी। इस वक्त तक भारत हर्ड इम्यूनिटी को अचीव कर लेगा। इसके बाद लोगों को मास्क नहीं लगाने की पूरी तरह छूट मिल सकती है। कुल मिलाकर ये कहा जा सकता है कि मास्क से पूरी तरह से आजादी के लिए हमें अभी कम से कम 6 से 8 महीने और इंतजार करना होगा।

किन राज्यों में सबसे कम आबादी वैक्सीनेट हुई-
आबादी के लिहाज से सबसे कम वैक्सीनेशन उत्तर प्रदेश, बिहार और झारखंड में हुआ है। इन तीनों राज्यों की केवल 12% आबादी पूरी तरह से वैक्सीनेट हुई है। झारखंड की 36% आबादी ऐसी है जिसे वैक्सीन की एक डोज दी जा चुकी है, तो बिहार की 37% आबादी को वैक्सीन की एक डोज दी गई है। वहीं, UP की 40% आबादी को वैक्सीन की एक डोज दी गई है।

हालांकि, देश में सबसे ज्यादा वैक्सीन डोज भी उत्तर प्रदेश में लगाई गई हैं। फिर भी 23 करोड़ आबादी वाले राज्य के लिहाज से ये काफी कम है। आबादी के हिसाब से वैक्सीन लगाने में महाराष्ट्र को छोड़ दें, तो बड़े राज्य पिछड़ गए हैं। सबसे पीछे UP है। यहां देश की 17.4% आबादी है, जबकि यहां कुल वैक्सीन में से 11.9% लगी हैं।

आबादी के हिसाब से वैक्सीनेशन का आकलन करें तो UP की स्थिति सबसे खराब नजर आती है। यहां के ज्यादातर जिलों में 15% से ज्यादा आबादी को दोनों डोज नहीं लग सकी हैं। सबसे कम वैक्सीनेशन वाले 100 जिलों में 47 UP-बिहार के हैं। सबसे अच्छी रफ्तार वाले टॉप-8 जिलों में भी UP का नोएडा शामिल है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

करतारपुर साहिब में पाकिस्तानी मॉडल का फोटोशूट मामले में विरोध के बाद स्वाला लाला ने मांगी माफी, भारत ने पाकिस्तानी राजनयिक को तलब किया

चंडीगढ़ एजेंसी। पाकिस्तान स्थित श्री करतारपुर साहिब गुरुद्वारे में पाकिस्तानी मॉडल स्वाला लाला के फोटोशूट करने पर भारत...

ससुराल गए युवक की संदिग्ध मौत, हत्या के आरोप, देवरिया हाईवे जाम

उत्तरप्रदेश। गोरखपुर में ससुराल गए युवक की संदिग्ध मौत हो गई। जिसके बाद परिजनों...

आगरा में फ्लैट में मिला 60 साल की महिला का शव, परिजनों ने जताई हत्या की आशंका

उत्तरप्रदेश। आगरा के थाना छत्ता अंतर्गत जीवनी मंडी में मंगलवार को फ्लैट में एक 60 साल की महिला...

Recent Comments

%d bloggers like this: