Home खबरों की खबर अन्य खबरे पीड़ित व्यापारियों को प्रताड़ित करना बंद करें अधिकारी: विधायक आलोक चतुर्वेदी, व्यापारियों...

पीड़ित व्यापारियों को प्रताड़ित करना बंद करें अधिकारी: विधायक आलोक चतुर्वेदी, व्यापारियों के खिलाफ हो रहीं जुर्माने और अभद्रता की घटनाओं पर विधायक आलोक चतुर्वेदी ने सीएम से की शिकायत, नायब तहसीलदार को छतरपुर से हटाने की मांग

मध्यप्रदेश। छतरपुर जिले में कोरोना महामारी के कारण पिछले एक माह से लागू कोरोना कर्फ्यू के कारण पहले ही जिले के व्यापारी और रोज कमाने खाने वाले लोग आर्थिक रूप से टूट चुके हैं इसके बावजूद उनको राहत देने की बजाय उन पर सरकारी जुल्म किया जा रहा है। प्रतिदिन छतरपुर के विवादित अधिकारी हमारे व्यापारियों को ग़ैरकानूनी तरीके से निशाना बना रहे हैं।

उक्त आरोप छतरपुर के कांग्रेस विधायक आलोक चतुर्वेदी पज्जन भैया ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखते हुए लगाए हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री को चिट्ठी लिखते हुए छतरपुर के हालातों से अवगत कराया और ऐसे अधिकारियों पर कार्यवाही की मांग की है।विधायक श्री चतुर्वेदी ने इस पत्र के साथ अधिकारियों द्वारा की जा रही बर्वर कार्यवाहियों के तथ्य भी ईमेल के माध्यम से भेजे हैं।

विधायक श्री चतुर्वेदी ने बताया कि कोरोना काल मे छतरपुर के व्यापारियों ने न सिर्फ सरकार और प्रशासन का भरपूर साथ दिया बल्कि मानवता की सेवा भी की फिर भी छतरपुर के कुछ राजस्व और पुलिस सेवा के अधिकारी और खासतौर पर छतरपुर की नायब तहसीलदार अंजू लोधी का व्यवहार इन व्यापारियों के प्रति मानवीय नही है।

उक्त अधिकारी कोरोना कर्फ्यू की आड़ में व्यापारियों को न सिर्फ प्रताड़ित कर रहे हैं बल्कि उनसे मुकदमों की धमकी देकर पैसे भी ऐंठ रहे हैं। पिछले एक माह में छतरपुर शहर के 50 से अधिक व्यपारियों पर कोरोना आपदा अधिनियम के तहत 5000 से 25000 तक के जुर्माने किये गए हैं जबकि उक्त अधिनियम के तहत एक नायब तहसीलदार को इस तरह के जुर्माने करने के अधिकार ही नही हैं। नियम तोड़ने वाले व्यापारियों के विरुद्ध धारा 188 के तहत कार्यवाही कर मामला न्यायालय भेजना चाहिए जबकि अधिकारी गैरकानूनी बसूली करने में जुटे हैं।

अनेक मामले ऐसे हैं जिनमे दुकानों को पहले साजिशन खुलवाया गया और इसके बाद व्यापारियों के विरुद्ध कार्यवाही की गई। इतना ही नही अनेक व्यापारियों के साथ अभद्रता भी की गई जिससे उनका सामाजिक अपमान हुआ है। छतरपुर के सम्पूर्ण व्यापारी नायब तहसीलदार अंजू लोधी की उक्त कार्यवाहियों से बेहद नाराज हैं लेकिन कोरोना आपदा के कारण वे सड़कों पर नही उतर रहे हैं।यदि जल्द ही विवादित नायब तहसीलदार अंजू लोधी को छतरपुर से हटाया नही गया तो कांग्रेस सम्पूर्ण व्यापारियों के साथ सड़क पर उतरेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

रोडवेज बस से कुचले बच्चे की मौत, सड़क पर शव ऱखकर जमकर काटा हंगामा

उत्तरप्रदेश। हमीरपुर जिले में बीते रविवार को सदर कोतवाली क्षेत्र के बस स्टैंड में कुरारा की ओर...

कोविड-19 वैक्सीन महाअभियान गढ़ीमलहरा में निकली रैली

छतरपुर ज.सं। कोरोना संक्रमण से बचाव एवं कोविड-19 संक्रमण के वैक्सीनेशन के प्रति लोगो को लोगो को...

एक संक्रमित हुआ डिस्चार्ज

छतरपुर ज.सं। छतरपुर जिले में शनिवार को 01 कोविड संक्रमित मरीज को खजुराहो कोविड केयर सेंटर से...

प्राचार्य ने टीकाकरण कराने की अपील की

छतरपुर ज.सं। शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय क्रमांक-1 छतरपुर के प्राचार्य एस.के. उपाध्याय ने छात्रों, उनके माता-पिता सहित जिले...

Recent Comments

%d bloggers like this: