Home खबरों की खबर अन्य खबरे पुरानी रंजिश पर फिर चली गोलियां, खेत पहुंचे युवक पर झाड़ियों में...

पुरानी रंजिश पर फिर चली गोलियां, खेत पहुंचे युवक पर झाड़ियों में छुपे हमलावरों ने ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी, कमर के नीचे गोली लगने पर वह ट्रैक्टर से नीचे गिरा, बदमाश मरा समझकर छोड़ गए

गोलीबारी में घायल जितेन्द्र गुर्जर का ट्रॉमा सेंटर में इलाज चलता हुआ

मध्यप्रदेश। ग्वालियर में 28 साल से चली आ रही खूनी रंजिश के चलते एक बार फिर ताबड़तोड़ गोलियां चली हैं। इस रंजिश में दो की हत्या, 6 से ज्यादा बार गोलियां चलने से लोग घायल हो चुके हैं। मंगलवार सुबह ट्रैक्टर लेकर खेत के लिए निकले जितेन्द्र को झाड़ियों में छुपे हमलावरों ने घेर लिया। वह गाड़ी से उतर पाता उससे पहले ही ताबड़तोड़ गोलियां चलाना शुरू कर दिया। एक गोली जितेन्द्र की पीठ और कूल्हे के नीचे लगी है और वह ट्रैक्टर से जमीन पर गिर पड़ा। इसी बीच जितेन्द्र के परिजन पहुंचे और बचाव के लिए गोलियां चलाईं। नीचे गिरे युवक को मृत समझकर हमलावर भाग गए। घायल के परिजन ने घटना की सूचना पुलिस को दी और घायल को लेकर JAH के ट्रॉमा सेंटर लेकर पहुंचे हैं। घायल की हालत गंभीर है। पुलिस ने स्थिति को संभाला है। हमलावरों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। जिन पर हमला करने का आरोप है कि उनके परिवार के एक सदस्य सिकंदर लोधी की 13 मई 2020 को मुरार के जड़ेरूआ में घेरकर हत्या की गई थी।

महाराजपुरा के गिरगांव निवासी जितेन्द्र सिंह गुर्जर (32) पुत्र दर्शन सिंह गुर्जर किसान है। मंगलवार सुबह वह घर से ट्रैक्टर लेकर खेत के लिए निकला था। अभी वह खेत पर पहुंचा ही था कि तभी अचानक 10 से 12 के लगभग हमलावरों ने उसे चारों तरफ से घेरकर फायरिंग कर दी। फायरिंग का पता चलते ही अन्य परिजन वहां पर पहुंचे तो हमलावरों ने उन पर भी फायरिंग की। इधर गोली लगने से जितेन्द्र ट्रैक्टर से जमीन पर आ गिरा। दूसरी तरफ से फायरिंग होते देखकर हमलावर वहां से भाग निकले। मामले का पता चलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। परिजन ने इलाज के लिए घायल को तत्काल जयारोग्य अस्पताल पहुंचाया है। डॉक्टर ने घायल का इलाज शुरू कर दिया है। हमला करने वालों में पड़ोसी जिरेना गांव को लोधी परिवार बताया गया है। दोनों परिवारों के बीच करीब 28 साल से रंजिश चली आ रही है।

हमलावरों में इनके नाम बताए-
घायल के परिजन ने पुलिस को हमलावरों के नाम हरेन्द्र लोधी, श्रीकृष्ण नरवरिया, भगवान सिंह लोधी, दीपक लोधी, रामलाल लोधी, टीकाराम लोधी, हरगोविन्द लोधी, अजब सिंह, राजकुमार व तीन अन्य के नाम बताए है। पुलिस ने उनकी शिकायत पर बताए गए आरोपियों के घरों पर टीमें रवाना कर दी है।

28 साल पहले हत्या से शुरू हुई थी रंजिश-
इस खूनी रंजिश की मूल जड़ 28 साल पहले सन 1993 में शुरू हुई थी। गिरगांव निवासी अजमेर सिंह गुर्जर की हत्या जिरेना गांव निवासी तुलसीराम लोधी ने अपने भाई के साथ मिलकर की थी। इस हत्या में उनको सजा हुई थी। इस हत्या की आग अजमेर सिंह के पोते धर्मवीर सिंह गुर्जर के दिल में सुलग रही थी। इसका बदला एक साल पहले 13 मई 2020 को लिया गया। जब मृतक अजमेर सिंह के पोते धर्मवीर ने दादा की हत्या करने वाले तुलसीराम के लड़के सिंकदर लोधी की मुरार के जड़ेरूआ में घेरकर हत्या कर दी थी। जब सिकंदर दूध देने बाइक से निकला था तो जड़ेरूआ पर उसे घेरकर पहले स्कॉर्पियो से टक्कर मारी फिर गोलियों से भून दिया। उस समय मृतक के भाई श्रीकृष्ण नरवरिया की शिकायत पर हत्या का मामला दर्ज हुआ था। जिसमें 9 आरोपी थे। अब मंगलवार हुए हमले में श्रीकृष्ण नरवरिया पर भी गोलीबारी करने का आरोप लगाया गया है।

पुलिस का कहना-
गिरगांव में पुरानी रंजिश को लेकर फायरिंग हुई है। एक युवक घायल हुआ है। घायल को जयारोग्य अस्पताल में भर्ती कराने के बाद पुलिस ने हमलावरों की तलाश शुरू कर दी है। साथ ही पुलिस जांच कर रही है कि हत्या के मामले में फरियादी पर दबाव बनाने के लिए गोलीबारी को अंजाम तो नहीं दिया गया है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

मृतक महिला के परिजनों ने लगाए हत्या के आरोप,छत्रसाल चौक पर परिजनों ने किया चक्का जाम, पुलिस की समझाइश के बाद खोला गया जाम

मध्यप्रदेश। छतरपुर जिला मुख्यालय पर मृतक महिला की मां निर्मला कोरी ने आरोप लगाते हुए कहा है...

प्रदेश में खाद की त्राहि-त्राहि, पर मुख्यमंत्री मौन?, बतायें कालाबाजारियों को संरक्षण दे रहा है कौन?: रवि सक्सेना

भोपाल। मध्यप्रदेश कांग्रेस के महामंत्री और वरिष्ठ प्रवक्ता रवि सक्सेना ने कहा मध्यप्रदेश के किसान इस समय...

कलेक्टर ने राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम की समीक्षा, टीबी मरीजों के बेहतर उपचार के लिए दिए निर्देश

छतरपुर जसं। कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में शनिवार को राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम...

कमिश्नर कार्यालय में फरियादी ने खाया जहर, फंड और पेंशन का पैसा न मिलने से था परेशान, कमिश्नर से समस्या बताने के बाद खा...

कमिश्नर कार्यालय में फरियादी ने खाया जहर। उत्तरप्रदेश। बांदा जिले में फंड और पेंशन...

Recent Comments

%d bloggers like this: