Home खबरों की खबर अन्य खबरे पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह की बिगड़ी तबीयत, ब्रेन स्ट्रोक और माइनर अटैक...

पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह की बिगड़ी तबीयत, ब्रेन स्ट्रोक और माइनर अटैक आने पर लोहिया अस्पताल में कराया गया भर्ती, मुलाकात के लिए पहुंचे सीएम योगी को नहीं पहचान पाए पूर्व सीएम

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लोहिया अस्पताल पहुंचकर कल्याण सिंह से मुलाकात की।

लखनऊ। उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह की तबीयत खराब हो गई है। शनिवार शाम को ब्रेन स्ट्रोक और फिर माइनर हार्ट अटैक आने पर उन्हें लखनऊ के राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान में एडमिट कराया गया है। पूर्व सीएम की हालत अभी नाजुक बताई जा रही है। रविवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी उनसे मिलने लोहिया संस्थान पहुंचे थे। यहां कल्याण सिंह सीएम योगी को नहीं पहचान पाए। डॉक्टर्स के मुताबिक, पूर्व सीएम के सोचने और समझने की क्षमता कमजोर हो गई है।

सीएम के सवालों का जवाब नहीं दे पाए-
लोहिया हॉस्पिटल के मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉ. विक्रम ने बताया कि 27 जून को पूर्व सीएम कल्याण सिंह को पैरोटेड ग्लैंड में संक्रमण के चलते हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। इसी बीच शनिवार रात उन्हें ब्रेन स्ट्रोक आया फिर माइनर अटैक भी हुआ।

उनकी सोचने समझने की क्षमता फिलहाल कमजोर हो गई है। और वह लोगों को पहचान भी नही पा रहे है। सीएम से बातचीत के दौरान भी वह उन्हें पहचान नही सके। सीएम योगी ने उनसे हाल-चाल पूछा लेकिन वह जवाब नहीं दे पाए। कल्याण सिंह सीएम के सवालों को भी नहीं समझ पा रहे थे। फिर मुख्यमंत्री ने डाक्टरों से उनकी तबीयत के बारे में जानकारी ली।

कल्याण सिंह लंबे समय से बीमार चल रहे हैं। 27 जून को भी उन्हें इलाज के लिए भर्ती कराया गया था।

लंबे समय से बीमार चल रहे हैं-
कल्याण सिंह लंबे समय से बीमार चल रहे हैं। पिछले हफ्ते भी कल्याण सिंह को लोहिया मे भर्ती कराया गया था। तब खून की जांच में यूरिया व क्रिटिनिन बढ़ा मिला था। लोहिया संस्थान के प्रवक्ता डॉ. श्रीकेश सिंह ने बताया कि क्रिएटिनिन लेवल में बढ़ोत्तरी हुई है, फिलहाल उनकी तबीयत स्थिर है।

कैसा रहा कल्याण सिंह राजनीतिक सफर-
कल्याण सिंह पहली बार कल्याण सिंह जून 1991 में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने थे। भाजपा के तेज तर्रार नेताओं में शामिल रहे कल्याण सिंह उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के तौर पर बाबरी मस्जिद विध्वंस को लेकर खासे चर्चा में रहे। बाबरी मस्जिद विध्वंस के बाद उन्होंने इसकी नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए 6 दिसंबर 1992 को मुख्यमंत्री पद से त्यागपत्र दे दिया था। इसके बाद कल्याण सिंह सितंबर 1997 से नवंबर 1999 तक फिर से उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने। बाबरी विध्वंस मामले में वह सीबीआई की जांच का सामना कर चुके हैं। हालांकि बाद में सीबीआई की विशेष अदालत ने उन्हें आरोपों से मुक्त कर दिया था।

राजस्थान और हिमाचल के रह चुके हैं राज्यपाल-
कल्याण सिंह यूपी के मुख्यमंत्री के साथ ही राजस्थान और हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल भी रह चुके हैं। वे 4 सितंबर 2014 से 8 सितंबर 2019 तक राजस्थान के राज्यपाल थे। इसके बाद जनवरी 2015 में हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल का अतिरिक्त कार्यभार सौंपा गया था। उन्होंने 12 अगस्त 2015 तक हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल का पदभार संभाला था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

बढ़ती महंगाई को लेकर महिला कांग्रेस ने छत्रसाल चौक कांग्रेस कार्यालय के बाहर बैठकर पहले सेकी रोटी,घरेलू गैस सिलेंडर पर पहनाई माला, फिर रोटी...

मध्यप्रदेश। छतरपुर जिला मुख्यालय पर महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सुषमा देवी के निर्देश पर महिला कांग्रेस...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह की गोद ली हुई 3 बेटियों की शादी आज, शिवराज सिंह चौहान पत्नी साधना सिंह के साथ करेंगे कन्यादान

तीनों दत्तक बेटियों के साथ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और उनकी पत्नी साधना सिंह।

प्रधानमंत्री ने नरेंद्र मोदी ने बाराणसी में कहा- कोरोना की दूसरी लहर को UP ने जिस तरह संभाला वह अभूतपूर्व है

उत्तरप्रदेश। वाराणसी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज काशी में हैं। यहां उन्होंने जापान और भारत की दोस्ती...

Recent Comments

%d bloggers like this: