Home खबरों की खबर अन्य खबरे पोषण समिति एवं कन्वर्जंस विभागों की मासिक समीक्षा बैठक हुई संपन्न, 65...

पोषण समिति एवं कन्वर्जंस विभागों की मासिक समीक्षा बैठक हुई संपन्न, 65 दुधारू गायों को कुपोषित बच्चों के परिवारों को सहभागिता योजना के अंतर्गत उपलब्ध कराया जाए: डीएम

उत्तरप्रदेश। हमीरपुर जिले में पोषण समिति एवं कन्वर्जंस विभागों की मासिक समीक्षा बैठक जिलाधिकारी डॉ ज्ञानेश्वर त्रिपाठी की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार कक्ष में संपन्न हुई। बैठक में राठ सीडीपीओ के अनुपस्थित पाए जाने पर जिलाधिकारी ने स्पष्टीकरण प्राप्त करने के निर्देश दिए हैं ।

इस मौके पर जिलाधिकारी ने कहा कि पोषण अभियान के अंतर्गत जनपद से जच्चा बच्चा के कुपोषण का पूर्णतया उन्मूलन के किया जाए, इसके लिए हर संभव प्रयास किया जाए। कुपोषण को समाप्त करने हेतु माइक्रो प्लान बनाकर कार्य किया जाए तथा घर घर जाकर गर्भवती एवं धात्री महिलाओं को पोषण के प्रति जागरूक किया जाए। उन्हें मौसमी फल सब्जियां का सेवन करने , अपनी स्वास्थ्य जांच कराने, समय-समय पर दवाएं लेने एवं टीकाकरण हेतु प्रोत्साहित करें। कहा की शिशुओ में कुपोषण न हो इसके लिए उसे 6 माह तक केवल मां का दूध ही पिलाया जाए। उन्होंने कहा कि जच्चा-बच्चा पूर्णतया स्वस्थ रहें इस पर विशेष ध्यान दिया जाए । कम वजन के बच्चों को एनआरसी में भर्ती कर इलाज कराया जाए। जिलाधिकारी ने कहा कि पोषण अभियान के संबंध में सभी संबंधित कर्मचारियों को अच्छे ढंग से ट्रेनिंग दी जाए तथा पोषण अभियान की सप्ताहिक प्रगति का साप्ताहिक मूल्यांकन किया जाए । कहा कि जनपद के लाल श्रेणी के बच्चों को पीले श्रेणी में तथा पीली श्रेणी के बच्चों को हरे श्रेणी में लाने का कार्य किया जाए तथा नए कुपोषित बच्चों का भी चिन्हांकन किया जाए। कुपोषित परिवारों को ड्राई राशन किट का समय समय पर वितरण किया जाए ।

जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद की विभिन्न गौशालाओं में 65 दुधारू गाय उपलब्ध हैं ,अतः इन दुधारू गायों को कुपोषित बच्चों के परिवारों को सहभागिता योजना के अंतर्गत उपलब्ध कराया जाए ।कहा कि सहभागिता योजना के अंतर्गत पूर्व में लोगों को उपलब्ध कराए गए अन्ना पशुओं/ गायों का भी सत्यापन कर उसका समय समय पर भुगतान किया जाए । कहा कि सभी सीडीपीओ/ सुपरवाइजर अपने संबंधित पशु डॉक्टर / बीडीओ को सहभागिता योजना के अंतर्गत धनराशि की डिमांड प्रत्येक दशा में माह की 5 तारीख को भेज दिया करें ताकि उसका समय से भुगतान हो सके। जिलाधिकारी ने कहा कि सभी प्राथमिक विद्यालयों / आंगनवाड़ी केंद्रों में पोषण वाटिका बनवाई जाए। पोषण वाटिका में औषधीय पौधे ,तुलसी ,सहजन ,आंवला, नींबू, करीपत्ता ,गिलोय एलोवेरा ,आदि लगाया जाय। कहा कि पोषण वाटिका हेतु समूह बनाकर कृषि विज्ञान केंद्र कुरारा से ट्रेनिंग भी ले जाए तथा उसके बारे में अन्य लोगों को बताया जाए । कहा कि सभी आंगनवाड़ी केंद्रों को 3 माह में पोषण वाटिका के माध्यम से हरा-भरा बनाया जाए।

इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी कमलेश कुमार वैश्य, प्रभागीय वनाधिकारी , उपायुक्त स्वतः रोजगार कमलेश कुमार ,जिला विकास अधिकारी विकास ,जिला कार्यक्रम अधिकारी सुरजीत सिंह ,जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी सतीश कुमार , मुख्य पशु चिकित्साधिकारी, समस्त सीडीपीओ , आंगनवाड़ी सुपरवाइजर तथा अन्य संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

(हमीरपुर ब्यूरो अजय शिवहरे)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

थाना अलीपुरा पुलिस द्वारा अंतरराज्यीय वाहन चोर गिरोह का पर्दाफाश

मध्यप्रदेश। छतरपुर जिले में पुलिस अधीक्षक, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के निर्देशन तथा एसडीओपी नौगांव के मार्गदर्शन में...

कट्टा लेकर घूम रहा यूवक पकड़ाया, सिविल लाइन पुलिस की कार्यवाही

मध्यप्रदेश। छतरपुर पुलिस अधीक्षक एवं अति. पुलिस अधीक्षक के निर्देशन मे एवं श्रीमान नगर पुलिस अधिक्षक के...

मासूम को कुचलने वाले ड्राइवर को नौकरी से निकाला

मध्यप्रदेश। ग्वालियर नगर निगम की कचरा गाड़ी से दो साल की बच्ची को कुचलने के मामले पर...

Recent Comments

%d bloggers like this: