Home खबरों की खबर अन्य खबरे बनारसी जरदोजी अंगवस्त्र से होगा प्रधानमंत्री का स्वागत, वाराणसी के सादाब आलम...

बनारसी जरदोजी अंगवस्त्र से होगा प्रधानमंत्री का स्वागत, वाराणसी के सादाब आलम ने गोल्डेन जरी से मंदिर व सिल्वर जरी दिखाई गंगा की लहर

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सोमवार को वाराणसी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अभिनंदन सुप्रसिद्ध जरदोजी अंगवस्त्र देकर करेंगे। इस पर गोल्डेन जरी से काशी लिखा गया है।

उत्तरप्रदेश। वाराणसी में सोमवार को मेहंदीगंज में होने वाली जनसभा के मंच पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अभिनंदन पारंपरिक तरीके से होगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उन्हें बनारस का सुप्रसिद्ध जरदोजी अंगवस्त्र देकर उनका स्वागत करेंगे। यह जरदोजी काशी की उत्कृष्ट हस्तशिल्प का नमूना है। पद्मश्री डॉ रजनी कांत ने बताया कि हाल ही में बनारस जरदोजी क्राफ्ट को GI का दर्जा मिला है। यह क्राफ्ट अब देश की बौद्धिक संपदा में भी शुमार हो गया। इसलिए इस बार प्रधानमंत्री का उनके संसदीय क्षेत्र में जरदोजी के अंगवस्त्र से स्वागत करने की योजना बनाई गई।

वाराणसी में जरदोजी से अंगवस्त्र को बुनते लल्लापुरा निवासी युवा शिल्पी सादाब आलम।

गंगा की लहरों को दर्शाया सिल्वर जरी से-
डॉ. रजनीकांत ने बताया कि जरदोजी से बने वस्त्र को तैयार करने की जिम्मेदारी​​​​​​ लल्लापुरा निवासी युवा शिल्पी सादाब आलम को दी गई है। सादाब आलम ने मास्टर शिल्पी मुमताज अली के साथ मिलकर मैरून कलर के कपड़े पर गोल्डन जरी से काशी लिखा। वहीं इसकी डिजाइन ऐसी बनाई गई कि यह वस्त्र पर उभरी-उभरी सी समझ में आए। वहीं अंगवस्त्र पर जरी से ही मंदिर की डिजाइन तैयार की गई और उस पर त्रिशूल व पताका भी बुना गया है। उसके नीचे यानि कि आधार पर सिल्वर जरी से गंगा की लहरों को दिखाया गया है।

बनारसी जरदोजी अंगवस्त्र।

प्रधानमंत्री का काशी और गंगा मैया के प्रति गहरा लगाव-
डॉ. रजनीकांत ने कहा कि काशी के GI रजिस्टर्ड उत्कृष्ट क्राफ्ट में बनारस की जरदोजी शुमार है। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री का काशी और गंगा मैया के प्रति गहरा लगाव है। मंदिरों के संरक्षण और विस्तार का अद्भुत उदाहरण श्रीकाशी विश्वनाथ धाम कॉरिडोर है। इसीलिए विकास की इस यात्रा में इन प्रतीकों का प्रयोग किया गया है। मालूम हो कि 15 जुलाई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब वाराणसी आए थे तो रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर के उद्घाटन पर बनारसी अंगवस्त्र से ही उनका स्वागत किया गया था। इसे यहीं के शिल्पियों द्वारा तैयार किया गया था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ पद्मश्री डॉ. रजनीकांत।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

अलर्ट पर हुआ इजराइल, विदेशी यात्रियों की एंट्री पर बैन, इजराइली लोगों को भी लौटने पर क्वारैंटाइन रहना होगा

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के चलते इजराइल ने सभी विदेशी यात्रियों की एंट्री पर...

पेरेंट्स के विरोध का हुआ असर, 100% क्षमता से स्कूल खोलने का आदेश 6 दिन में ही वापस, नया आदेश सोमवार से लागू

भोपाल। मध्यप्रदेश में छोटी क्लास के बच्चों की स्कूल पूरी क्षमता के खोले जाने के फैसले पर सरकार...

अधेड़ व्यक्ति की पीट-पीटकर हत्या, पुलिस पर लगा आरोपियों को बचाने का आरोप

उत्तरप्रदेश। बस्ती के दुबौलिया थाना क्षेत्र में रविवार को एक 50 साल के व्यक्ति की लाठी-डंडों और ईंट...

Recent Comments

%d bloggers like this: