Home खबरों की खबर अन्य खबरे ब्रेकिंग न्यूज: ट्राला मकान पर पलटा, 4 की मौत, गिट्‌टी से भरा...

ब्रेकिंग न्यूज: ट्राला मकान पर पलटा, 4 की मौत, गिट्‌टी से भरा ट्राला सड़क किनारे कच्चे घर पर पलटा, दो भाई, एक बहन समेत 4 की मौत, मां-बाप घायल

जिला अस्पताल में एंबुलेंस से घायलों को उतारते कर्मचारी।

मध्यप्रदेश। दमोह जिले के बटियागढ़ थानाक्षेत्र के आंजनी टपरिया गांव में अनियंत्रित गिट्टी से भरा ट्राला सड़क किनारे बने कच्चे घर के ऊपर पलट गया। इसमें दो भाई, एक बहन सहित चार लोगों की मौत हो गई। मृतक भाई-बहन के माता-पिता की हालत गंभीर बनी हुई है। मृतकों में एक व्यक्ति की पहचान नहीं हो पाई है। बताया गया है वह ट्राला में सवार था। इसके अलावा ट्राला चालक भी गंभीर रूप से घायल हुआ है।
घायलों को 108 एंबुलेंस से रात करीब 11 बजे जिला अस्पताल लाया गया। इनमें से आकाश पुत्र हरिराम अहिरवाल 17, मनीषा पुत्र हरिराम 19, ओमकार पुत्र हरिराम 16 एवं एक अज्ञात युवक को डॉ. विशाल शुक्ला ने मृत घोषित कर दिया।

नेहा पत्नी हरिराम अहिरवाल एवं हरिराम पुत्र भूरा अहिरवाल 35 का इलाज जारी है। हादसे में ट्रक चालक भी गंभीर रूप से घायल हुआ है। उसका भी इलाज चल रहा है।
घायल हरिराम के चचेरे भाई कोमल ने बताया कि रात कि रात करीब 8:30 बजे गिट्‌टी से भरा ट्राला बटियागढ़ की ओर से हटा की ओर जा रहा था। हरिराम के कच्चे घर के ऊपर पलट गया। सभी लोग घर के अंदर थे, जो ट्राला की चपेट में आ गए। घायलों के जिला अस्पताल पहुंचते ही देहात थाना पुलिस, कोतवाली पुलिस सहित बड़ी संख्या में पुलिस बल जिला अस्पताल पहुंचा। हंगामा होने के मद्देनजर एहतियातन गेट के पास पुलिस तैनात रही। रात करीब 11:30 बजे पथरिया विधायक रामबाई भी जिला अस्पताल घायलों का हाल जानने पहुंची।

प्रत्यक्षदर्शी राघवेंद्र अहिरवाल के मुताबिक, रात के करीब 8:15 बजे चाची बीड़ी बना रही थी। चाचा पास में बैठे थे। तीनों बच्चे आकाश (17), मनीषा (19), ओमकार (16) मकान की दीवार के पास सो रहे थे। मैं अपने घर के पास खड़ा था। इस बीच तेज आवाज आई और हम लोग जहां से आवाज आई, उस दिशा में दौड़े। आसपास मौजूद लोग भी मौके की तरफ भागे। देखा तो गिट्‌टी से भरा एक ट्राला चाचा हरिराम के कच्चे मकान पर पलटा पड़ा था। पूरे मकान पर गिट्‌टी बिखर गई थी। हम लाेग मकान की ओर दौड़े और परिवार के लोगों को तलाशने लगे।

मकान के ऊपर फैली गिट्टी को हटाना शुरू किया। पहले चाचा नजर आए। इसके बाद गिट्‌टी हटाने के काम में और तेजी लाई गई। इस बीच चाची नेहा की आवाज मिली। इन्हें बाहर निकालने के बाद तीनों बच्चों की तलाश शुरू हुई। इसमें करीब एक घंटे से ज्यादा का वक्त लग गया। ट्राला में करीब 10 ट्रॉली गिट्‌टी भरी थी। यदि मकान पर ज्यादा गिट्‌टी नहीं फैली होती तो तीनों बच्चों की जान भी बच जाती।

1 घंटे तक गिट्‌टी में दबे रहे परिवार के सदस्य-
ग्रामीणों के अनुसार ट्राला गिट्टी से ओवरलोड भरा था। पलटने पर पूरी गिट्टी घर के ऊपर बिखर गई। जिससे परिवार के सभी लोग दब गए थे। ग्रामीणों और पुलिस की मदद से गिट्टी को हटाया गया। इसके बाद सभी घायलों को बाहर निकाला गया। इसमें काफी समय लगने से तीन लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। इधर जिला अस्पताल पहुंचे पथरिया विधायक का कहना है कि ऐसे मार्गों पर ट्रकों की ओवरलोडिंग की चैकिंग होना चाहिए।दमोह| जिला अस्पताल में एबुंलेंस से घायलों को उतारते कर्मचारी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

प्रदेश में खाद की त्राहि-त्राहि, पर मुख्यमंत्री मौन?, बतायें कालाबाजारियों को संरक्षण दे रहा है कौन?: रवि सक्सेना

भोपाल। मध्यप्रदेश कांग्रेस के महामंत्री और वरिष्ठ प्रवक्ता रवि सक्सेना ने कहा मध्यप्रदेश के किसान इस समय...

कलेक्टर ने राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम की समीक्षा, टीबी मरीजों के बेहतर उपचार के लिए दिए निर्देश

छतरपुर जसं। कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में शनिवार को राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम...

कमिश्नर कार्यालय में फरियादी ने खाया जहर, फंड और पेंशन का पैसा न मिलने से था परेशान, कमिश्नर से समस्या बताने के बाद खा...

कमिश्नर कार्यालय में फरियादी ने खाया जहर। उत्तरप्रदेश। बांदा जिले में फंड और पेंशन...

Recent Comments

%d bloggers like this: