Home खबरों की खबर अन्य खबरे रात के अंधेरे में 3 साल की मासूम का अपहरण, खुली पिता...

रात के अंधेरे में 3 साल की मासूम का अपहरण, खुली पिता की खुली नींद, बेटी की तलाश में दौड़े तो बदमाश पार्क में छोड़कर भागा, CCTV में सिरफिरा बच्ची को ले जाता दिखा

बच्ची को ले जाता सिरफिरा बदमाश

मध्यप्रदेश। ग्वालियर में आधी रात को एक सिरफिरा बदमाश मजदूर दंपती की 3 साल की बेटी को उठाकर ले गया। बदमाश ने बच्ची को सीने से लगाया और दबे पांव वहां से निकल गया। किस्मत से चंद मिनट बाद बच्ची के पिता की नींद खुल गई। बच्ची को न देख उन्होंने शोर मचाया। वहां हंगामा खड़ा हो गया।

साथ ही मासूम की तलाश शुरू कर दी। जब वह बच्ची को तलाश रहे थे तभी घटना स्थल से 100 मीटर की दूरी पर एक पार्क से बच्चे के रोने की आवाज आई। देखा तो वह मासूम थी जिसका अपहरण हुआ। बच्ची सुरक्षित है। लोगों के जागने और तलाश करने से डरकर सिरफिरा बच्ची को पार्क में छोड़कर भाग गया है। मासूम के साथ एक बड़ी घटना टल गई है। घटना आरपी कॉलोनी पड़ाव की है। इतना सब होने के बाद भी पड़ाव थाना पुलिस को कुछ नहीं पता। पर बच्ची को उठाकर ले जाने वाले सिरफिरे की हरकत एक CCTV कैमरे में कैद हो गई है।

पड़ाव स्थित आरपी कॉलोनी में पप्पू कुमार नामक युवक एक निर्माणधीन मल्टी में मजदूरी करता है। वह अपने परिवार पत्नी व चार बेटियों के साथ यहीं रहता है। मंगलवार रात को खाना खाकर मजदूर और उसकी पत्नी जमीन पर बिस्तर बिछाकर सो रहे थे। उनके पास ही उनकी चारों बेटियां भी सोई हुई थी। तभी रात करीब 3.15 बजे एक सिरफिरा उस मल्टी में दबे पांव दाखिल हुआ और मजदूर की 3 साल की बेटी को उठाकर भाग निकला। करीब 5 मिनट बाद मजदूर की आंख खुली तो बेटी को न देखकर वह घबरा गया। पहले तो उसने मल्टी में देखा, लेकिन बेटी कही नहीं मिली। फिर कॉलोनी मे तलाश करते हुए निकला और शोर भी मचाया। जिस पर वहां स्थानीय लोगों की भीड़ जमा हो गई। अभी सिरफिरा कॉलोनी से बाहर नहीं निकल सका था। हंगामा होते और मजदूर को पीछा करते देख वह बच्ची को एक पार्क में छोड़कर भाग गया।

पार्क से आई बच्ची के रोने की आवाज-
पार्क में छोड़ने के बाद बच्ची ने रोना शुरू कर दिया। पार्क के पास एक अन्य मल्टी में सो रहे कुछ लोगों को आवाज सुनाई दी। वह वहां पहुंचे तो एक बच्ची रो रही थी। तत्काल उसे गोद में लिया। साथ ही बाहर निकले। इसी समय बच्ची को तलाशता हुआ मजदूर परिवार भी वहां पहुंच गया। बच्ची उनको सौंप दी गई। घटना के बाद से क्षेत्र में दहशत का माहौल है।
कोई बड़ी वारदात टली

यदि पिता की नींद नहीं खुलती तो सिरफिरा बच्ची को ले जाने में कामयाब हो जाता। ऐसे में वह बच्ची के साथ कोई भी बड़ी घटना को अंजाम दे सकता था। इस इलाके में इस तरह की घटनाएं हो चुकी हैं। बच्ची को उठाने वाला कोई नशेड़ी या बच्चा चोर हो सकता है। फिलहाल पुलिस को इस पूरी घटना के बारे में पता तक नहीं है।

CCTV कैमरे में बच्ची को ले जाता दिखा सिरफिरा-
बच्ची के मिलने के बाद सिरफिरे की पहचान के लिए कॉलोनी वालों ने वहां लगे CCTV कैमरे चेक किए तो एक सिरफिरा कैमरे में नजर आ गया। वह बच्ची को छाती से लगाए हुए भागते हुए दिखाई दे रहा है। इसके अलावा वह दूसरी एक जगह भी दिखाई दिया। आरोपी की पहचान नहीं हो सकी है, पीड़ित परिवार ने पुलिस में शिकायत नहीं कराई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

थाना अलीपुरा पुलिस द्वारा अंतरराज्यीय वाहन चोर गिरोह का पर्दाफाश

मध्यप्रदेश। छतरपुर जिले में पुलिस अधीक्षक, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के निर्देशन तथा एसडीओपी नौगांव के मार्गदर्शन में...

कट्टा लेकर घूम रहा यूवक पकड़ाया, सिविल लाइन पुलिस की कार्यवाही

मध्यप्रदेश। छतरपुर पुलिस अधीक्षक एवं अति. पुलिस अधीक्षक के निर्देशन मे एवं श्रीमान नगर पुलिस अधिक्षक के...

मासूम को कुचलने वाले ड्राइवर को नौकरी से निकाला

मध्यप्रदेश। ग्वालियर नगर निगम की कचरा गाड़ी से दो साल की बच्ची को कुचलने के मामले पर...

Recent Comments

%d bloggers like this: