Home मध्यप्रदेश लापरवाही करने वाले का कार्यवाही प्रस्ताव भेजें: कलेक्टर, ग्राम चौहानी में सीसी...

लापरवाही करने वाले का कार्यवाही प्रस्ताव भेजें: कलेक्टर, ग्राम चौहानी में सीसी रोड नहीं डालने एवं राशि आहरण करने पर सचिव, सरपंच, उपयंत्री एवं सहायक उपयंत्री पर एफआईआर कराने के निर्देश, कलेक्टर की अध्यक्षता टीएल बैठक सम्पन्न

छतरपुर जसं। कलेक्टर छतरपुर शीलेन्द्र सिंह ने सोमवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में टीएल प्रकरणों की साप्ताहिक समीक्षा करते हुए कहा कि सीएम हेल्पलाइन की लंबित विभागवार शिकायतों का समय से संतुष्टिपूर्वक समाधान करें।

उन्होंने एक-एक शिकायत पर जिला अधिकारियों एवं एसडीएम से चर्चा की। उन्होंने एसडीएम को गरीब परिवारों को आबादी भूमि को चिन्हित कर भूमि उपलब्ध कराने की प्रक्रिया शुरु करने के निर्देश दिये है एवं उन्होंने कहा कि जल जीवन मिशन की कार्यों की समीक्षा भी एसडीएम करें। उन्होंने कहा कि टीएल के पत्र का प्रतिवेदन नहीं भेजने पर संबंधित के खिलाफ नोटिस जारी होगा। उन्होंने आरईएस के कार्य की समीक्षा करते हुए तहसील गौरिहार ग्राम चौहानी में सीसी रोड एवं नाली निर्माण कमलू राजपूत के पुरवा से जगमोहन के मकान की ओर नाम से प्रस्तावित था। मगर निर्माण कार्य नहीं कराया गया और राशि आहरण कर ली गई। कलेक्टर श्री सिंह ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए सचिव, सरपंच, उपयंत्री एवं सहायक यंत्री पर जिला पंचायत सीईओ को एफआईआर कराने निर्देश दिये।

कलेक्टर श्री सिंह ने एसडीएम को निर्देशित किया है कि मुख्यालय से बाहर जाकर गांव में समस्याएं देखे एवं जरूरत पड़ने पर रात्रि विश्राम करें। जिससे सही स्थिति से अवगत हो सके तथा समस्याओं का समाधान हो सके। उन्होंने कहा कि जिस तहसीलदार से संबंधित एरिया में खराब स्थिति पाई जाती है तो उसके खिलाफ कार्यवाही प्रस्ताव भेजे, साथ ही जिले में चल रहे भू-अभिलेख रिकार्ड शुद्विकरण पखवाड़ा कार्य में भी तेजी एवं प्रगति लाये एवं आगामी दिनों में होने वाले पंचायत चुनाव की तैयारियां शुरू कर दे। कलेक्टर श्री सिंह ने सीएम हेल्पलाइन के सही निराकरण पर सभी धन्यवाद भी दिया है।  

आकांक्षी जिले के पैरामीटर पर लक्ष्यानुरूप कार्य करें-
कलेक्टर श्री सिंह ने आकांक्षी जिले के सभी पैरामीटर की विस्तृत समीक्षा करते हुए कहा कि आकांक्षी जिलेे की योजनाओं के क्रियान्वयन से संबंधित प्रगति में तेजी लाएं। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग, पशुपालन, महिला एवं बाल विकास, शिक्षा एवं डीपीसी व एलडीसीएम संबंधित कार्यों में तेजी लाये व लक्ष्य की पूर्ति करें। सभी विभागीय अधिकारी आकांक्षी जिले की योजनओं की प्रगति सप्ताह देखे एवं उसमें सुधार करें। उन्होंने सभी अधिकारियों को निर्देशित किया कि आकांक्षी जिले के पैरामीटर से जुड़े कार्य को प्राथमिकता से करें। इस कार्य में बिल्कुल लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। बैठकों में जो भी निर्देश दिए जाते हैं उस पर गंभीरता से कार्य करें।

शिक्षा-स्वास्थ्य की गुणवत्ता में सुधार हो निरीक्षण का मुख्य लक्ष्य: कलेक्टर-
कलेक्टर श्री सिंह ने शिक्षा की गुणवत्ता एवं आमजन को जिले में बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध हो इसके लिए अधिकारियों द्वारा जिले के शासकीय विद्यालयों एवं स्वास्थ्य केन्द्रों तथा आंगनबाड़ी केन्द्रों का निरीक्षण किया जा रहा। उन्होंने सभी अधिकारियों से निरीक्षण के बारे में जानकारी ली।

कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि 8वीं, 10वीं, 12वीं के बच्चों पर विशेष ध्यान दे। जो शिक्षक अपने बच्चों को हिंदी पढ़ना, जोड़ना, घटाना नहीं सिखा पा रहे है उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यकाही की जाएगी। उन्होंने स्मार्ट क्लास के संचालक की जानकारी भी ली। उन्होंने कहा कि स्मार्ट क्लास के लेक्चर को यू-ट्यूब पर अपलोड करें जिससे बच्चे रूचि ले। उन्होंने कहा कि निरीक्षण का मुख्य उद्देश्य है कि शिक्षा गुणवत्ता में सुधार हो सके। उन्होंने कहा कि आपके ज्ञान का लाभ दूसरे ले इस मानसिकता से कार्य करे। एक स्कूल का लगातार निरीक्षण करें जिससे शिक्षा की गुणवत्ता सुधर सकें। उन्होंने बराचखेड़ा में शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार नहीं होने पर डीईओ से स्पष्ट्रीकरण मांगा है।

उन्होंने सभी एसडीएम से कहा कि प्राचार्यों से पढ़ाये गये टॉपिक की डेली रिपोर्ट ले, जिस अधिकारी ने जो स्कूल गोद लिया है वहां की शिक्षा गुणवत्ता में सुधार नहीं हुआ तो वह स्वयं जिम्मेेदार होगा। गुणवत्ता ठीक करने के लिए स्कूलों को गोद लिया गया है। जो इस कार्य में बार-बार कहने पर काम नहीं कर रहे उनका कार्यवाही प्रस्ताव भेजे। कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि स्वास्थ्य संस्थाओं एवं आंगनबाड़ी में सुधार दिखने चाहिये। उन्होंने कहा कि एक अधिकारी कम से कम दो स्कूलों गोद लें एवं निरीक्षण करें। जो अधिकारी हफ्ते में स्कूल का निरीक्षण नहीं करेंगे तो उसका वेतन काटा जाएगा। शिक्षक समय पर उपस्थित हो एवं गुणवत्ता पूर्वक पढ़ाई कराये। उन्होंने जिला शिक्षा अधिकारी डीपीसी एवं सीएमएचओ को कड़ी फटकार लगाते हुए कहा कि स्कूल की गुणवत्ता एवं स्वास्थ्य सुविधाओं में सुधार नहीं हुआ तो इसके जिम्मेदार स्वयं होंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

करतारपुर साहिब में पाकिस्तानी मॉडल का फोटोशूट मामले में विरोध के बाद स्वाला लाला ने मांगी माफी, भारत ने पाकिस्तानी राजनयिक को तलब किया

चंडीगढ़ एजेंसी। पाकिस्तान स्थित श्री करतारपुर साहिब गुरुद्वारे में पाकिस्तानी मॉडल स्वाला लाला के फोटोशूट करने पर भारत...

ससुराल गए युवक की संदिग्ध मौत, हत्या के आरोप, देवरिया हाईवे जाम

उत्तरप्रदेश। गोरखपुर में ससुराल गए युवक की संदिग्ध मौत हो गई। जिसके बाद परिजनों...

आगरा में फ्लैट में मिला 60 साल की महिला का शव, परिजनों ने जताई हत्या की आशंका

उत्तरप्रदेश। आगरा के थाना छत्ता अंतर्गत जीवनी मंडी में मंगलवार को फ्लैट में एक 60 साल की महिला...

Recent Comments

%d bloggers like this: