Home खबरों की खबर अन्य खबरे लालू के पुत्र तेज प्रताप की जिद थी कि पिताजी आएं तो...

लालू के पुत्र तेज प्रताप की जिद थी कि पिताजी आएं तो धरने से उठूंगा, लालू-राबड़ी पहुंचे तो उनके पैर धुलाए और मान गए

आवास के बाहर धरने पर तेज प्रताप।

पटना। लालू प्रसाद यादव के पटना पहुंचते ही तेज प्रताप यादव ने अपना रंग दिखाना शुरू कर दिया। लालू के दोनों बेटों के बीच का विवाद सड़क पर आ गया। तेज प्रताप की जिद थी कि लालू उनके आवास पर आएं, लेकिन वह सीधा राबड़ी देवी के आवास चले गए। राबड़ी देवी के आवास पर जाकर अपने पिता से उन्होंने भेंट की, हालांकि उसके पहले भी वह कई विस्फोटक बयान, जैसे- मेरा राजद से नाता नहीं- दे चुके थे।
राबड़ी के आवास से लौट कर तेज प्रताप यादव ने अपने सरकारी आवास के बाहर धरना दिया और छात्र जनशक्ति परिषद के कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर खूब नारेबाजी की। जोर-जुलुम के टक्कर में संघर्ष हमारा नारा है जैसे नारे लगाए गए। आखिर, लालू जब राबड़ी के साथ उनके आवास पर मिलने आए, तो तेज माने। हालांकि, लालू गाड़ी में ही बैठे रहे और वहीं से वापस चले गए।

पिता लालू के साथ राबड़ी देवी भी आई थीं।

तेज प्रताप यादव ने तेजस्वी यादव पर कहा कि वे दूध पीते बच्चे नहीं हैं। उन्हें समझना चाहिए। हरियाणा के आदमी संजय यादव को यहां कोई पहचानता नहीं है। इसके बावजूद ऐसे लोगों को साथ लेकर वे चल रहे हैं। ऐसे लोगों को साथ लेकर चलेंगे तो कैसे काम चलेगा? उन्हें सबको साथ लेकर चलना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि इन लोगों ने पार्टी को हाईजैक कर लिया और बर्बाद करने का काम कर रहे हैं। इस तरह का रवैया रहा तो जिसको हम अपना अर्जुन कहते हैं, वह गद्दी पर कभी बैठ नहीं पाएगा। उसे प्रॉब्लम हो जाएगी।

लालू-राबड़ी आए, तब शांत हुए तेज प्रताप-
इसके बाद रविवार देर रात लालू प्रसाद और राबड़ी देवी तेज प्रताप यादव के आवास पर पहंचे। तब जाकर उनका गुस्सा शांत हुआ। तेज प्रताप यादव ने लालू प्रसाद के पैर पानी से धोए। तेज प्रताप दूध से भी पैर धोना चाहते थे, लेकिन उन्हें मना कर दिया गया। इस बीच कुछ देर तक कार में ही लालू प्रसाद बैठे रहे और फिर वापस राबड़ी आवास चले गए। वापस जाने पर तेज प्रताप यादव ने कहा कि यह उन लोगों पर तमाचा है, जो हमारे परिवार को तोड़ना चाहते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

अधेड़ व्यक्ति की पीट-पीटकर हत्या, पुलिस पर लगा आरोपियों को बचाने का आरोप

उत्तरप्रदेश। बस्ती के दुबौलिया थाना क्षेत्र में रविवार को एक 50 साल के व्यक्ति की लाठी-डंडों और ईंट...

पीएनसी कंपनी के कर्मचारियों ने आदिवासी की जमीन की मिट्टी खोदकर सड़क में डाली

मध्यप्रदेश। छतरपुर जिले के बमीठा थाना क्षेत्र में पीएनसी कंपनी के कर्मचारियों ने मातादीन आदिवासी की कृषि की...

युवा नेता नीरज चतुर्वेदी बने छतरपुर जिले में भारतीय जनता युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष, क्षेत्र में जबरदस्त उत्साह समर्थकों में हर्ष

छतरपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा, भाजपा जिलाध्यक्ष मलखान सिंह एवं जिला महामंत्री अरविंद...

Recent Comments

%d bloggers like this: