Home उत्तरप्रदेश सपा के 4 फाइनेंसर्स पर आयकर विभाग की पड़ी रेड, अखिलेश के...

सपा के 4 फाइनेंसर्स पर आयकर विभाग की पड़ी रेड, अखिलेश के करीबी अरबपति राहुल भसीन के घर भी पहुंची टीम, 3 और नेताओं के घर भी चल रही है कार्रवाई

लखनऊ। उत्तरप्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले समाजवादी पार्टी के 4 बड़े नेताओं के ठिकानों पर इनकम टैक्स की छापेमारी हुई है। मऊ में सपा के राष्ट्रीय सचिव राजीव राय, लखनऊ में जैनेंद्र यादव और मैनपुरी में मनोज यादव के घर छापे की कार्रवाई चल रही है। इसी बीच खबर आई है कि लखनऊ में अखिलेश के एक और करीबी अरबपति कारोबारी राहुल भसीन के घर भी 12.30 बजे आईटी टीम पहुंची है। भसीन का कपड़ों का बड़ा कारोबार है। वहां भी कार्रवाई शुरू हो गई है।
सभी नेता सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के बेहद करीबी हैं। ये पार्टी के फाइनेंसर माने जाते हैं। जैनेंद्र यादव अखिलेश के मुख्यमंत्री रहते हुए उनके OSD भी रह चुके हैं। चुनाव के पूर्व हुई इस छापेमारी को सियासी एंगल से भी देखा जा रहा है।

1- मऊ में छापे के दौरान राजीव राय की तबीयत बिगड़ गई है। आईटी की टीम डॉक्टर को लाने निकली है।
2- 4 करीबियों पर छापे के बाद अखिलेश यादव ने रायबरेली में कहा कि अभी तो इनकम टैक्स वाले ही आए हैं। ED और CBI का आना बाकी है।
3- अखिलेश बोले-यूपी में चुनाव लड़ने आ गया इनकम टैक्स
4- राजीव राय के दुबई और बेंगलुरू में इंजीनियरिंग और मेडिकल कॉलेज

सबसे पहले शनिवार सुबह करीब 7 बजे राजीव राय के मऊ में शहादतपुरा आवास पर छापे की खबर आई। राय 2014 में लोकसभा चुनाव लड़ चुके हैं। राय के दुबई और बेंगलुरू में मेडिकल कॉलेज हैं। इनकम टैक्स की छापेमारी की खबर मिलते ही उनके समर्थक बड़ी संख्या में उनके घर पहुंचे हैं। वे भाजपा सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं।

राय ने घोसी से चुनाव लड़ने की थी तैयारी-
राजीव राय शुरू से ही सपा से जुड़े हुए हैं। भूमिहार नेता के तौर इनकी पहचान है। मऊ, बलिया और गाजीपुर क्षेत्र में भूमिहारों में अपनी पकड़ रखते हैं। यह मूलत: बलिया के रहने वाले हैं। अखिलेश यादव राजीव राय को घोसी से चुनाव लड़ाना चाहते हैं। इसके लिए वे तीन महीने पहले ही मऊ में शिफ्ट हुए हैं। अभी उन्होंने वहां आवास लिया है और अपना कार्यालय खोला है।

अखिलेश के OSD रह चुके हैं जैनेंद्र यादव-
इधर, लखनऊ में जैनेंद्र यादव के गोमती नगर आवास पर इनकम टैक्स की टीम पहुंची है। अखिलेश से करीबी होने की वजह से वे उनके OSD बने थे। इसके बाद जैनेंद्र यादव ने रियल स्टेट में कदम रखा। आगरा लखनऊ और कई अन्य शहरों में जैनेंद्र की कई जमीने हैं। इसके अलावा इनकी मिनरल वाटर की फैक्ट्री भी है।

मनोज सपा अध्यक्ष अखिलेश की कोर टीम के सदस्य माने जाते हैं।

मनोज यादव लखनऊ के बड़े कारोबारी हैं-
मैनपुरी में मनोज यादव के घर छापेमारी हुई है। वे RCL ग्रुप के चेयरमैन हैं। वे लंबे समय से मैनपुरी में जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर काबिज हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

सुसाइड करने जा रही युवती को पुलिस ने बचाया, राप्ती नदी में कूदने जा रही थी युवती

उत्तरप्रदेश। गोरखपुर जिले में एक बार फिर पुलिस ने एक युवती की जान बचाई है। घरवालों की बातों...

कार से मिले 22 लाख रुपए, आयकर विभाग और निर्वाचन आयोग की टीम मौके पर पहुंची

उत्तरप्रदेश। कानपुर में पुलिस को चेकिंग के दौरान कार से 25 लाख की नगदी मिली। इससे इलाके में...

आईजी अनिल शर्मा ने किया पुलिस अस्पताल का उद्घाटन, केपी फाउंडेशन के सहयोग से निर्मित हुआ अस्पताल

मध्यप्रदेश। छतरपुर पुलिस लाइन में निर्मित अस्पताल का आईजी अनिल शर्मा ने किया उद्घाटन,केपी चौरसिया फाउंडेशन के द्वारा...

छतरपुर जिले का कोरोना अपडेट: सोमवार को छतरपुर जिले में निकले 35 कोरोना पॉजिटिव केस

मध्यप्रदेश। छतरपुर जिले में सोमवार को जिले में 35 कोरोना पॉजिटिव केस निकले, जिसमे शहर में 13 केस,...

Recent Comments

%d bloggers like this: