Home खबरों की खबर अन्य खबरे स्वामित्व योजना: जमीन के दस्तावेज नहीं होने का झंझट हुआ खत्म, मालिक...

स्वामित्व योजना: जमीन के दस्तावेज नहीं होने का झंझट हुआ खत्म, मालिक ही नहीं स्वामित्व अधिकार से सशक्त हुए, छतरपुर जिले के 7 हजार 44 हितग्राहियों को मिला मालिकाना हक

छतरपुर जसं। जमीन के दस्तावेज नहीं होने का झंझट हुआ खत्म, मालिक ही नहीं स्वामित्व अधिकार से सशक्त हुए। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को वर्चुअली रूप से मध्यप्रदेश में स्वामित्व योजना अंतर्गत भूमि अधिकार अभिलेख का वितरण सिंगल क्लिक के माध्यम से किया। स्वामित्व योजना अंतर्गत छतरपुर जिले के 53 ग्रामों के 7 हजार 44 हितग्राही लाभांवित हुए।

जिले का मुख्य कार्यक्रम लवकुशनगर की जनपद पंचायत के सभाकक्ष में संपन्न हुआ। इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हितग्राहियों को सम्बोधित किया। छतरपुर जिले के लवकुशनगर तहसील के 11 ग्रामों में 1 हजार 838 एवं चंदला के 42 ग्रामों में 5 हजार 206 हितग्राही लाभांवित हुए। स्वामित्व योजना के तहत विधायक चंदला राजेश प्रजापति एवं कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह ने कार्यक्रम के दौरान 64 हितग्राहियों को अधिकार अभिलेख वितरित किए। इस अवसर पर अरविन्द पटेरिया, पूर्व जनपद अध्यक्ष, एसडीएम लवकुशनगर एवं नौगांव और तहसीलदार लवकुशनगर, जनप्रतिनिधि, अधिकारी-कर्मचारी सहित हितग्राही एवं आमजन उपस्थित रहे। जिले की सभी पंचायतों में लाइव प्रसारण को लगभग 54 हजार 370 लोगों द्वारा देखा एवं सुना गया।

इस अवसर पर कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह ने हितग्राहियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि पहले लोगों के पास अपने मकान का मालिकाना हक नहीं होता था जिससे उन्हें कई प्रकार की दिक्कतों का सामना करना पड़ता था। उन्होनें कहा कि मुख्यमंत्री की मंशानुसार स्वामित्व योजना को प्रदेश में लागू किया गया जिससे गांव की आबादी एवं गांव में रहने वाले लोगों को अपने घर का मालिकाना हक मिला है इस योजना से पूरे जिले के ग्राम क्रम क्रम से लाभांवित होगें। इससे लोगों को बैंक से लोन लेने एवं अन्न कार्य करने में आसानी होगी।

इसी क्रम में विधायक राजेश प्रजापति ने अपने संबोधन में कहा कि प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री द्वारा हर गरीब को जिसके पास अपने मकान मालिकाना हक नहीं था उन्हें यह हक एवं अधिकार दिलाने के लिए प्रदेश में स्वामित्व योजना को शुरु किया गया है। उन्होंने कहा कि तभी हमारा प्रदेश एवं देश आत्मनिर्भर बनेगा जब हमारा घर, गांव एवं जिला आत्मनिर्भर होगा। उन्होेनें कहा कि अपने घर का मालिकाना हक मिल जाने से कई सारे लाभ मिलेंगे एवं काम में आसानी होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

मृतक महिला के परिजनों ने लगाए हत्या के आरोप,छत्रसाल चौक पर परिजनों ने किया चक्का जाम, पुलिस की समझाइश के बाद खोला गया जाम

मध्यप्रदेश। छतरपुर जिला मुख्यालय पर मृतक महिला की मां निर्मला कोरी ने आरोप लगाते हुए कहा है...

प्रदेश में खाद की त्राहि-त्राहि, पर मुख्यमंत्री मौन?, बतायें कालाबाजारियों को संरक्षण दे रहा है कौन?: रवि सक्सेना

भोपाल। मध्यप्रदेश कांग्रेस के महामंत्री और वरिष्ठ प्रवक्ता रवि सक्सेना ने कहा मध्यप्रदेश के किसान इस समय...

कलेक्टर ने राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम की समीक्षा, टीबी मरीजों के बेहतर उपचार के लिए दिए निर्देश

छतरपुर जसं। कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में शनिवार को राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम...

कमिश्नर कार्यालय में फरियादी ने खाया जहर, फंड और पेंशन का पैसा न मिलने से था परेशान, कमिश्नर से समस्या बताने के बाद खा...

कमिश्नर कार्यालय में फरियादी ने खाया जहर। उत्तरप्रदेश। बांदा जिले में फंड और पेंशन...

Recent Comments

%d bloggers like this: