Home खबरों की खबर अन्य खबरे 25 जवानों की हत्या में शामिल नक्सली का सरेंडर, 13 और माओवादियों...

25 जवानों की हत्या में शामिल नक्सली का सरेंडर, 13 और माओवादियों ने छोड़े हथियार, एक लाख रुपए का इनामी भी पकड़ा गया

लोन वर्राटू यानी घर वापस आइए अभियान से प्रभावित होकर 14 नक्सलियों ने सरेंडर किया है।

छत्तीसगढ़। दंतेवाड़ा में पुलिस के लोन वर्राटू यानी घर वापस आइए अभियान से प्रभावित होकर 14 नक्सलियों ने सरेंडर किया है। इनमें से एक नक्सली 25 जवानों की हत्या में भी शामिल रहा है। सर्चिंग पर निकले DRG के जवानों ने 1 इनामी नक्सली को भी गिरफ्तार किया है। ये सभी माओवादी पिछले कई सालों से माओवाद संगठन से जुड़कर काम कर रहे थे। साथ ही कई घटनाओं में भी शामिल रहे हैं।

नक्सली सन्ना मरकाम।

SP डॉ. अभिषेक पल्लव ने बताया कि इनके समर्पण करने से अब इलाका शांत होगा। इधर, लोन वर्राटू अभियान से प्रभावित होकर पिछले डेढ़ साल में 454 नक्सली मुख्यधारा में लौट आए हैं।

सरेंडर करने वाले नक्सलियों में 1 लाख रुपए का इनामी नक्सली सन्ना मरकाम भी शामिल है। यह नक्सलियों के डूमाम लोकल ऑब्जर्वेशन स्क्वायड (LOS) का सदस्य है। सन्ना साल 2017 में सुकमा जिला के बुरकापाल में हुई पुलिस नक्सली मुठभेड़ में भी शामिल था। इस घटना में 25 जवान शहीद हुए थे।

सन्ना ने पुलिस को बताया कि वह माओवादियों की खोखली विचारधारा से तंग आ गया था। सरेंडर कर खुशहाल जिंदगी जीना चाहता था, इसलिए आत्मसमर्पण किया है। अन्य 13 नक्सलियों ने भी हिंसा का रास्ता छोड़ दिया है और सन्ना के साथ आकर उन्होंने भी आत्मसमर्पण किया है।

माओवादी कोसा मड़कम को गिरफ्तार किया है।

दंतेवाड़ा के एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव ने बताया कि आत्मसमर्पण किए अन्य 13 माओवादी हत्या, लूट, आगजनी, बड़े नक्सली लीडरों की बैठक की व्यवस्था करना, उनके लिए खाने की व्यवस्था करना, बैनर पोस्टर लगाना, सड़क, पुल पुलिया को क्षतिग्रस्त करना सहित अन्य काम किया करते थे। ये माओवादी कई बड़े लीडरों के साथ काम कर चुके हैं। ऐसे में यह सभी पुलिस के सामने कई राज खोलेंगे।

कटेकल्याण से एक नक्सली गिरफ्तार-
दंतेवाड़ा के कटेकल्याण थाना क्षेत्र से जवानों ने 1 लाख रुपए के इनामी माओवादी कोसा मड़कम को भी गिरफ्तार किया है। कोसा नक्सलियों के DAKMS अध्यक्ष के पद पर काम कर रहा था। शनिवार को कटेकल्याण थाना बल व दंतेवाड़ा के DRG जवानों की टुकड़ी जिले के सुरनार और टेटम के जंगलों में सर्चिंग के लिए निकली हुई थी। इस दौरान जंगल में पुलिस पार्टी को देख एक संदिग्ध व्यक्ति भाग रहा था। जिसे घेराबंदी कर पकड़ा गया। जिसकी पहचान कोसा के रूप में हुई। यह पिछले कई सालों से कटेकल्याण एरिया कमेटी में सक्रिय रहकर तांडव मचा रहा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

अलर्ट पर हुआ इजराइल, विदेशी यात्रियों की एंट्री पर बैन, इजराइली लोगों को भी लौटने पर क्वारैंटाइन रहना होगा

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के चलते इजराइल ने सभी विदेशी यात्रियों की एंट्री पर...

पेरेंट्स के विरोध का हुआ असर, 100% क्षमता से स्कूल खोलने का आदेश 6 दिन में ही वापस, नया आदेश सोमवार से लागू

भोपाल। मध्यप्रदेश में छोटी क्लास के बच्चों की स्कूल पूरी क्षमता के खोले जाने के फैसले पर सरकार...

अधेड़ व्यक्ति की पीट-पीटकर हत्या, पुलिस पर लगा आरोपियों को बचाने का आरोप

उत्तरप्रदेश। बस्ती के दुबौलिया थाना क्षेत्र में रविवार को एक 50 साल के व्यक्ति की लाठी-डंडों और ईंट...

Recent Comments

%d bloggers like this: