Home खबरों की खबर अन्य खबरे 50 हजार के इनामी बदमाश को STF ने पकड़ा, 3 लोगों की...

50 हजार के इनामी बदमाश को STF ने पकड़ा, 3 लोगों की हत्या के बाद भी जेल से छूट गया था, 4 दिन पहले एक नेता को बीच सड़क मार डाला

STF के हत्थे चढ़ा 50 हजार का इनामी बदमाश वकील अहमद उर्फ मुंडा।

उत्तरप्रदेश। स्पेशल टास्क फोर्स (STF) ने शुक्रवार को प्रतापगढ़ के भूपियामऊ रेलवे क्रासिंग के पास से हिस्ट्रीशीटर वकील अहमद उर्फ मुंडा को गिरफ्तार कर लिया। इसके खिलाफ प्रतापगढ़, प्रयागराज में हत्या, लूट, गैंगस्टर, 7 सीएलए एक्ट समेत 74 मामले दर्ज हैं। ये कानपुर के कुख्यात बदमाश विकास दुबे से भी बड़ा हिस्ट्रीशीटर है। तीन लोगों की हत्या के बाद भी जेल से बाहर घूम रहा था। चार दिन पहले यानी 17 मई को इसने प्रतापगढ़ में प्रधानी का चुनाव लड़ रहे एक प्रत्याशी के समर्थक को बीच सड़क मार डाला था। STF ने इसके पास से हथियार बरामद किया है।

पंचायत चुनाव में दो लोगों की कर डाली हत्या –
SP STF नवेंदु कुमार ने बताया कि वकील अहमद ने पूछताछ में बताया है कि उसने प्रतापगढ़ में प्रधानी चुनाव के दौरान जेठवारा के वहीद की गोली मारकर हत्या कर दी थी। इसके बाद प्रतापगढ़ के फूलपुर में बीडीसी सदस्य मोहम्म्द एनुल जब अपने साथ कय्यूम और नसीम के साथ प्रचार करने निकला तो तीनों पर हमला बोल दिया गया था। अपने साथियों के साथ पहले लाठी-डंडों से तीनों को मारा गया और बाद में नसीम को गोली मार दी थी। नवेंदु ने बताया कि पिछले साल से ही इसकी तलाश थी। गिरफ्तार करने वाली टीम में एसआइ वेद प्रकाश पांडेय, अनिल कुमार सिंह, मुख्य आरक्षी प्रभंजन पांडेय, आरक्षी हबीब सिद्दीकी व सुनील शामिल रहे।

वकील अहमद ने 1975 में किया था पहला अपराध, बेल पर बाहर, फिर हत्या-
इसे सिस्टम की ही खामी कहेंगे कि वकील अहमद ने पहला अपराध 1975 में किया था और आज तक उसपर काबू नहीं पाया जा सका। वह बेल पर बाहर आता गया और अपराध करता रहा। प्रतापगढ़ और उसके आसपास के जिलों में उसका खौफ था। मुंडा ने जेठवारा के सिंधौर भामोरगंज बाजार निवासी तत्कालीन ग्राम प्रधान सीताराम जायसवाल की 1994 में उस समय हत्या कर दी थी जब वो सुबह आठ बजे कोटेदार के घर मिट्टी का तेल ले रहे थे। उन्हें सरेआम गोली से उड़ा दिया था। कोटेदार के घर सरेआम हुई हत्या के बाद मुंडा को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। इस मुकदमे में उसे 20 साल की सजा भी हो चुकी है। मुंडा इस मामले में हाईकोर्ट से जमानत पर रिहा चल रहा था। वकील अहमद कितना शातिर अपराधी है इसका पता इसी बात से चलता है कि इसपर पहला मुकदमा जेठवारा प्रतापगढ़ में 1975 में दर्ज हुआ था। इसके बाद नियमित अंतराल पर वो अपराध करता रहा है। उसपर हत्या, हत्या का प्रयास, गुंडा, गैंगस्टर, 7सीएलए एक्ट जैसे कई गंभीर अपराध का आरोप है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

पुलिस लाइन छतरपुर में मनाया गया पुलिस शहीद स्मृति दिवस

मध्यप्रदेश। छतरपुर जिले में आज 21 अक्टूबर को पुलिस स्मृति दिवस के उपलक्ष्य में पुलिस लाइन जिला...

आज समाज में अधिकाँश लोग भटकाव का जीवन जी रहे हैं। सत्य के मार्ग का लोगों क़ो पता ही नही है, ऐसे विपरीत समय...

डेस्क न्यूज। जब हम लोग अपने खेतों में ज्यादा पैदावार लेना चाहते हैं तो उसे ज्यादा उपजाऊ...

ब्रेकिंग न्यूज: बीजिंग में UN के कार्यक्रम में भारतीय राजदूत ने बोलना शुरू किया तो माइक बंद हुआ, वे चीन की परियोजना की आलोचना...

भारतीय राजदूत प्रियंका सोहोनी ने संयुक्त राष्ट्र की कॉन्फ्रेंस में चीन के बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव पर भारत की तरफ से...

बड़ी खबर: ड्रग्स केस में बॉलीवुड एक्ट्रेस अनन्या पांडे के घर NCB की रेड

मुंबई। बॉलीवुड एक्ट्रेस अनन्या पांडे के घर NCB ने गुरुवार को छापेमारी की। रिपोर्ट्स के मुताबिक, क्रूज...

Recent Comments

%d bloggers like this: