Home उत्तरप्रदेश क्षय रोगियों का साथी बना ‘टीबी आरोग्य साथी एप’, एप के माध्यम...

क्षय रोगियों का साथी बना ‘टीबी आरोग्य साथी एप’, एप के माध्यम से मिलती है टीबी से जुड़ी हर जानकारी, जनपद में वर्तमान में 1548 क्षय रोगी, स्वास्थ्य कर्मी देते हैं एप की जानकारी

उत्तरप्रदेश। हमीरपुर जिले में 2025 तक टीबी मुक्त भारत अभियान के तहत लांच किए गए ‘टीबी आरोग्य साथी’ एप टीबी रोगियों का साथी बन रहा है। इस एप में टीबी रोगी से जुड़ी हर जानकारी उपलब्ध रहती है। इसकी सहायता से मरीज के इलाज की जानकारी के साथ ही साथ क्षय रोगियों को मिलने वाली सरकारी सहायता के बारे में भी जानकारी आसानी से मिल जाती है।

जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ.महेशचंद्रा ने बताया कि अभी हाल ही में इस एप को लांच किया गया है। लेकिन कोरोना के कारण इसका ज्यादा प्रचार नहीं हो सका। अस्पताल आने वाले टीबी रोगियों को इस एप के बारे में जानकारी देकर उनके मोबाइल पर इसे इंस्टाल कराया जाता है। इस एप के माध्यम से टीबी परीक्षण और उपचार विवरण, विभिन्न प्रोत्साहन योजनाओं के तहत देय राशि का विवरण, स्वास्थ्य प्रदाता तक पहुंच और उपचार या किसी भी जानकारी के लिए अनुरोध किया जा सकता है।

जिला कार्यक्रम समन्वयक राजेंद्र कुमार ने बताया कि अस्पताल आने वाले या फील्ड विजिट के दौरान मिलने वाले टीबी रोगियों को एप की जानकारी दी जाती है। इस एप से टीबी मरीज अपना इलाज ट्रैक कर सकते हैं। मरीज अपने खाते में आने वाली निक्षय पोषण योजना के तहत 500 रुपए की राशि के बारे में भी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। निक्षय पोषण योजना के तहत टीबी मरीजों को उपचार के दौरान छह माह तक हर माह 500 रुपए की आर्थिक सहायता दी जाती है।

जिले में 1548 टीबी मरीज उपचाराधीन-


जनपद में टीबी के 1548 मरीज उपचाराधीन हैं। जनवरी 2021 से लेकर अब तक कुल 630 टीबी के मरीज चिन्हित किए गए हैं तथा उनका इलाज चल रहा है। कोरोना की वजह से हुए लॉकडाउन के कारण मरीजों को चिन्हित करने वाला काम भी प्रभावित हुआ है।

एप से मिलेंगी यह जानकारियां-


एप के बारे में जानकारी देते हुए जिला कार्यक्रम समन्यवक ने बताया कि एनटीईपी के तहत पंजीकृत रोगियों के लिए यह डिजिटल रिकार्ड तक पहुंचने के लिए एक पोर्टल की तरह कार्य करेगा। इसके अंतर्गत टीबी परीक्षण और उपचार विवरण, विभिन्न प्रोत्साहन योजनाओं के तहत देय राशि का विवरण, स्वास्थ्य प्रदाता तक पहुंच और उपचार या किसी भी जानकारी के लिए अनुरोध किया जा सकता है।

साल दर साल घट रहे हैं टीबी मरीज-


डीटीओ डॉ.महेशचंद्रा ने बताया कि अप्रैल 2017 से मार्च 2018 में जिले में 2245 टीबी रोगियों की पुष्टि हुई। जिनमें 2008 मरीज पूरी तरह से ठीक हो गए। 2018-19 में 3108 मरीज मिले, जिसमें 2793 पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं। 2019-20 में मरीजों की संख्या में कमी दर्ज की गई। इस साल में 1823 मरीजों में अब तक 780 ठीक हो चुके हैं जबकि अन्य का उपचार चल रहा है। 2020-21 में अब तक 1548 मरीजों की पुष्टि हो चुकी है। इनका उपचार चल रहा है। इन सभी मरीजों को निक्षय योजना के तहत प्रतिमाह पांच सौ रुपए खानपान के लिए दिए जा रहे हैं।

(हमीरपुर ब्यूरो अजय शिवहरे)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

जम्मू-कश्‍मीर में आतंकी हमला, बारामूला में CRPF टीम पर ग्रेनेड अटैक, दो जवान और एक नागरिक घायल, सर्च ऑपरेशन जारी

बारामूला में घटनास्थल पर सुरक्षाबल श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के बारामूला में सुरक्षा बलों पर आतंकियों...

जीपी सिंह नहीं पहुंचे कोतवाली: पुलिस ने भेजा था नोटिस, मगर नहीं आए, राजद्रोह मामले में फिर भेजा जा सकता है बुलावा

पिछले दिनों कोतवाली थाने की टीम ने जीपी सिंह के घर की तलाशी लेकर कंप्यूटर लैपटॉप जब्त किए थे।

1 अगस्त को आएंगे गृह मंत्री अमित शाह आएंगे यूपी दौरे पर, वाराणसी से मिर्जापुर जाएंगे अमित शाह, भाजपा नेताओं को विधानसभा चुनाव की...

उत्तरप्रदेश। आगामी 1 अगस्त को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह विधानसभा चुनाव से पहले मिर्जापुर के महत्वपूर्ण...

Recent Comments

%d bloggers like this: