Home मध्यप्रदेश बुढ़वा गांव में कोरोना का कोहराम, डरे सहमे ग्रामीणों ने दी कलेक्टर...

बुढ़वा गांव में कोरोना का कोहराम, डरे सहमे ग्रामीणों ने दी कलेक्टर को सूचना, फिर स्वास्थ्य विभाग की पहुंची टीम

मध्यप्रदेश। रीवा जिले में शहरों की अपेक्षा अब गांवों में तेजी से कोरोना संक्रमित मरीज मिल रहे हैं। एक ऐसा ही मामला जिले के मनगवां तहसील अंतर्गत बुढ़वा गांव का आया है। यहां के डरे सहमे ग्रामीणों ने व्हाट्सएप में कलेक्टर को जानकारी भेज कर स्वास्थ्य विभाग की टीम को भेजने का आग्रह किया था। बड़े स्तर पर कोरोना संदिग्ध मरीजों की सूचना के बाद कलेक्टर इलैयाराजा टी स्थानीय प्रशासन से बात की। इसके बाद आनन-फानन में शुक्रवार की दोपहर मनगवां एसडीएम केपी पाण्डेय को स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ बुढ़वा शुक्लान टोला भेजा। जहां पर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने ग्रामीणों का सर्वे कर 50 से अधिक कोरोना संदिग्धों की जांच कराई।

वहीं ग्रामीणों ने बताया कि एक युवक की मौत हो चुकी है। जबकि पहले 9 पॉजिटिव मरीज थे, जिसमें चार लोग स्वस्थ्य हो चुके हैं। वहीं 5 ग्रामीण सेल्फ आइसोलेट है। वहीं 50 लोगों के सैंपल लेने के बाद 21 सस्पेक्टेडों को होम क्वारैंटाइन किया गया है। जबकि 2 मरीजों को जेपी कोविड सेंटर भेजा है।

बता दें कि ग्रामीणों की सूचना के बाद कलेक्टर के निर्देश पर मनगवां एसडीएम एवं बीएमओ शुक्रवार को मनगवां तहसील के बुढ़वा शुक्लान टोला में कोविड-19 पॉजिटिव पाए जाने के बाद आरटी-पीसीआर एवं रैपिड एंटीजन के माध्यम से 50 से अधिक लोगों के सैंपल कलेक्टर किए गए। जांच के दौरान ग्रामीणों ने बताया कि इस गांव में कोरोना का प्रकोप एक दर्जन घरों में फैला हुआ है। हाल ही में संक्रमण से 28 वर्षीय माइनिंग इंजीनियर की मौत हो चुकी है। जिसके बाद से पूरे गांव में हड़कंप है। क्योंकि गांव में काफी लोग सर्दी-जुकाम खांसी-बुखार से पीड़ित हैं। ऐसे में मनगवां एसडीएम केपी पाण्डेय और बीएमओ डॉ. देवव्रत पाण्डेय मेडिकल मोबाइल टीम के साथ घर-घर पहुंचकर जांच कराई।

गांव का सर्वे करने के बाद मनगवां एसडीएम केपी पाण्डेय ने बताया कि पहले से गांव में 9 पॉजिटिव केस थे। जहां शुक्रवार को चार की रिपोर्ट निगेटिव आ गई। वहीं पांच मरीज अपने-अपने घर में होम आइसोलेट है। जबकि सर्वे के बाद 25 ग्रामीणों के एंटीजन टेस्ट कराए गए थे। जिसमें सभी निगेटिव आएं है। शेष 41 लोगों का आरटी-पीसीआर टेस्ट कराया गया है। जिनकी रिपोर्ट शनिवार को आएगी। अगर सब कुछ सही रहा तो ठीक वरना गांव को रेड जोन बनाया जा सकता है। एसडीएम के अनुसार शुक्रवार को जितने भी टेस्ट कराए गए। उनमें से 21 लोगों को होम क्वारैंटाइन किया गया है। जिन्हें दवा की किट सौंपी गई है। वहीं दो संक्रमित युवकों को जेपी कॉविड केयर सेंटर एंबुलेंस से भेजा गया है। बीएमओ ने गांव में एक टीम तैनात कर दी है। जो रोजाना निगरानी कर मरीजों का स्वास्थ्य जांचेगी।

शुकुलगावां एवं तेलियान टोला में मरीज मिलने की आशंका-


कुछ ग्रामीणों ने प्रशासन के समक्ष आरोप लगाया है कि शुकुलगावा एवं बुढ़वा तेलियान टोला में भी काफी संख्या में कोविड-19 से संक्रमित मौजूद है। इन दोनों गांवों में काफी लोग बाहर से आए थे। ऐसे में घर घर कोरोना सस्पेक्टेड केस हैं। वहीं जागरूक वर्ग संक्रमितों के कारण डरे सहमे हैं। ऐसे में एसडीएम ने इन दोनों गांवों में भी मेडिकल टीम भेजी है। जहां ऑक्सीमीटर एवं गन टेंपरेचर मशीन से जांच कर संदिग्धों की तलाश की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

अच्छी खबर: श्री जटाशंकर धाम में 15 माह बाद श्रद्धालुओं के लिए खुले मंदिर के कपाट, जल चढ़ाकर किए लोगों ने दर्शन

मध्यप्रदेश छतरपुर जिले के बिजावर अनुविभाग अंतर्गत आने वालेप्रसिद्ध तीर्थ एवं पर्यटन स्थल श्री जटाशंकर धाम में...

गोयरा पुलिस ने कट्टा कारतूस के साथ एक आरोपी को किया गिरफ्तार

मध्यप्रदेश। छतरपुर पुलिस अधीक्षक सचिन शर्मा के निर्देशन में एसडीओपी लवकुशनगर पीएल प्रजापति के मार्गदर्शन मे थाना...

कोतवाली पुलिस द्वारा एक और चोरी की मोटरसाइकिल बरामद की गई

मध्यप्रदेश। छतरपुर जिले के थाना सिटी कोतवाली पुलिस ने सुरेंद्र सिंह परमार पिता हरपाल सिंह परमार उम्र...

जमीनी विवाद में दबंगों ने की मारपीट, पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया

उत्तरप्रदेश। हमीरपुर जिले के बिवाँर थाना क्षेत्र के बिभूनी गांव में दबंगों ने जमीनी विवाद के चलते...

Recent Comments

%d bloggers like this: