Home मध्यप्रदेश डायमण्ड प्रोजेक्ट के संबंध में सोशल मीडिया एवं अन्य माध्यमों से फैलाई...

डायमण्ड प्रोजेक्ट के संबंध में सोशल मीडिया एवं अन्य माध्यमों से फैलाई जा रही भ्रामक एवं झूठी खबरों पर नही, तथ्यों पर विश्वास करें कतिपय संगठन लोगों को गुमराह कर रहे हैं, अटकलों पर नही, भ्रामक खबरों पर नहीं, तथ्यों पर ध्यान दें

छतरपुर ज.सं। छतरपुर कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह ने लोगों से की अपील की झूठी बातों एवं भ्रामक खबरों में नहीं आएं। डायमण्ड प्रोजेक्ट में एक साथ नहीं, 12-15 वर्षों में आवश्कतानुसार काटे जाएंगे पेड़, डायमण्ड प्रोजेक्ट में पर्यावरण का पूरा ध्यान रखा गया है और 3.40 लाख पौधे रोपित करने के साथ-साथ कंपनी उनकी देख-रेख और पोषण का कार्य भी करेगी।

जिस के लिए 16 करोड़ की राशि जमा की गई है। इसके अलावा विभिन्न क्षेत्रों में कम्पनी द्वारा 200 करोड़ रुपए की राशि वन विकास की समृद्धि के लिए कैम्पा फंड में भी जमा कराई जाएगी। जो लोग कह रहे हैं कि डायमण्ड प्रोजेक्ट से पर्यावरण बिगड़ेगा उनकी बात झूठी और भ्रामक होने के साथ-साथ तथ्यों पर आधारित नहीं हैं। ऐसे लोग स्वार्थ सिद्धि के लिए अनावश्यक रूप से भ्रम फैला रहे हैं किसी भी रहवासी का विस्थापन नहीं होगा। डायमण्ड कम्पनी द्वारा कैम्पा फंड में 200 करोड़ की राशि दी गई। बक्स्वाहा के चिन्हित जंगल एक साथ काटे जाने की खबर भी झूठी, भ्रामक और शरारत पूर्ण है। लोगों में भय एवं डर फैलाया जा रहा है। डायमण्ड कम्पनी द्वारा वनों का समुचित विकास पर्यावरण को ध्यान में रखकर किया जाएगा।

कलेक्टर श्री सिंह ने कि डायमण्ड प्रोजेक्ट के संबंध में सोशल मीडिया पर चलाये जा रहे वीडियो पर नही बल्कि तथ्यों पर ध्यान दें। कतिपय लोग एवं मनगढ़ंत वीडिओ चला कर लोगों को भ्रमित कर रहे हैं। इनकी अटकलों एवं भ्रामक खबरों पर ध्यान नहीं दें। डायमण्ड प्रोजेक्ट में चिन्हित क्षेत्र में पेड़ो को एक साथ काटे जाने की खबर झूठी है बल्कि 12-15 वर्षों में पेड़ों को हटाया या काटा जाएगा।

पेड़ हटाने अथवा काटने के पूर्व ही 3 लाख 40 हजार पौधे कम्पनी द्वारा लगाये जायेंगे। कम्पनी द्वारा पौधों की देख-रेख एवं पोषण हेतु 16 करोड़ रुपए की राशि जमा की गई है। इसके अलावा विभिन्न क्षेत्रों में कम्पनी द्वारा 200 करोड़ रुपए की राशि वन विकास की समृद्धि के लिए कैम्पा फंड में भी जमा कराई जाएगी।


डायमण्ड प्रोजेक्ट में 2 लाख 15 हजार पेड़ एक साथ काटे जाने और पर्यावरण बिगाड़ने की जानकारी भ्रामक और झूठी है और बिना किसी तथ्यों के है तथा लोगों में भय एवं डर बनाने के लिए निहित स्वार्थवस फैलाया जा रहा है एवं डायमण्ड कम्पनी द्वारा कराये जाने वाले सामाजिक बुनियादी विकास के कार्यों की सही जानकारी नही देकर भटकाया भी जा रहा है। श्री सिंह ने कहा कि वनों के विस्थापन के सम्बन्ध में डायमण्ड कंपनी पर्यावरण विभाग से एनओसी प्राप्त करेगी।

डायमण्ड कम्पनी के प्रोपराइटर द्वारा विकास के लिए बुनियादी सुविधाएं जिसमें स्वास्थ्य, पेयजल एवं शिक्षा सहित अन्य विकास की सुविधा शामिल है का निर्माण होगा, लोगों से अपील की गई है कि अफवाह फैलाने वाले लोग कतिपय लोगों की झूठी बातों एवं भ्रामक खबरों में नहीं आएं। बक्स्वाहा डायमण्ड प्रोजेक्ट के चिन्हित क्षेत्र के पेड़ एक साथ काटे जाने की खबर झूट और भ्रामक है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

बढ़ती महंगाई को लेकर महिला कांग्रेस ने छत्रसाल चौक कांग्रेस कार्यालय के बाहर बैठकर पहले सेकी रोटी,घरेलू गैस सिलेंडर पर पहनाई माला, फिर रोटी...

मध्यप्रदेश। छतरपुर जिला मुख्यालय पर महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सुषमा देवी के निर्देश पर महिला कांग्रेस...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह की गोद ली हुई 3 बेटियों की शादी आज, शिवराज सिंह चौहान पत्नी साधना सिंह के साथ करेंगे कन्यादान

तीनों दत्तक बेटियों के साथ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और उनकी पत्नी साधना सिंह।

प्रधानमंत्री ने नरेंद्र मोदी ने बाराणसी में कहा- कोरोना की दूसरी लहर को UP ने जिस तरह संभाला वह अभूतपूर्व है

उत्तरप्रदेश। वाराणसी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज काशी में हैं। यहां उन्होंने जापान और भारत की दोस्ती...

Recent Comments

%d bloggers like this: