Home शक्ति न्यूज़ खास नवरात्र पर्व के अति विशिष्ट अवसर पर गुरुदेव जी के निर्देशानुसार माँ...

नवरात्र पर्व के अति विशिष्ट अवसर पर गुरुदेव जी के निर्देशानुसार माँ दुर्गा जी की विशेष साधना करने से प्रत्येक मनुष्य को मनवांछित फल प्राप्त होता है, इस पावन अवसर का ज्यादा से ज्यादा लाभ उठाएं

डेस्क न्यूज। “माँ के नाम की लूट है, लूट सको तो लूट। अंत समय पछतायेगा, जब प्राण जाएगा छूट”।समाज में व्याप्त भयावहता और लोगों में महामारी के प्रति डर से निजात पाने का सर्वोत्तम उपाय यही है की हम लोग कल से आरंभ हो रहे नवरात्र के अवसर पर माँ की साधना-आराधना करें।आज जिधर देखिए उधर ही अपराध हो रहे हैं ।लोगों में गलत कार्यों को करने की होड़ मची हुई है। शराब, माँस और चरित्र हीनता में लिप्त होकर अनेक लोग अपने जीवन को बर्बाद करने पर आमादा हैं। एक बड़ी प्रचलित भ्रान्ति लोगों में है की नवरात्र में लोग नशा और माँस का सेवन नही करते हैं पर उसके उपरांत फिर से शुरू कर देते हैं।

ऐसे लोगों को सोचना चाहिए की जब आप लोगों की सोच ऐसी रहेगी तो आपको कभी भी लाभ नही मिल पाएगा। ऐसे लोगों की सोच पर हँसी भी आती है। आप कभी भी शराब और माँस का सेवन ना ही करें। ऐसे समय में गुरुदेव जी ने समाज को उचित मार्ग प्रदान किया है। जो भी व्यक्ति गुरुवर जी द्वारा बताए हुए इन मार्गों का अक्षरशः पालन करेगा, निश्चित रूप से वो व्यक्ति अपने आशा से भी बढ़कर लाभ प्राप्त करेगा। कई लोग वासना के वशीभूत होकर अपने स्वर्णिम भविष्य को चौपट करने पर तुले हुए हैं। कहा भी गया है की “जब नाश मनुज का आता है तो उसका विवेक मर जाता है “। जो माँ की नियमित साधना नही करेगा उसका विवेक कभी भी जागृत नही होगा।

इस नवरात्र पर आइए हम लोग माँ की विशेष साधना करें जिससे माँ प्रसन्न होकर हमारे कष्टों का निवारण कर दें। माला फूल, नारियल, चुनरी, दीपक, अगरबत्ती आदि पूजा की सामग्री से हम नौ दिन तक उपवास (व्रत) रहकर माँ की साधना करें और जहाँ भी माँ की दिव्यआरती क्रम हों वहाँ जाएं और वहाँ की ऊर्जा को आत्मसात करके अपने जीवन को एक नयी दिशा प्रदान करें।

15अप्रैल 2021को श्री दुर्गा चालीसा भवन का स्थापना दिवस भी है, इस दिन भी हम लोग विशेष साधना करें जिससे हमें लाभ मिल सके। इस बार की नवरात्रि में हम लोग माँ और गुरुवर जी से कामना करें की हमें इस महामारी से मुक्ति प्रदान कीजिए ताकि हम लोग पहले की तरह सामान्य जीवन जी सकें। जो लोग भी कोरोना से पीड़ित हैं उनके शीघ्र स्वस्थ होने की हम माँ-गुरुवर से कामना करें। कुछ विशेष साधना क्रम हैं जैसे- श्री दुर्गा चालीसा पाठ, गुरु मंत्र ,शक्ति चेतना मंत्र और माँ और ॐ का जप जरूर कीजिए।

ये अति विशिष्ट मंत्र हमारे जीवन में अप्रत्याशित परिवर्तन डाल सकते हैं। हम कम से कम अपने कल्याण के बारे में जरूर सोच सकते हैं। गुरुदेव जी ने कहा है की आत्म कल्याण (माँ की साधना) और जन कल्याण (माँ की आरती और चालीसा पाठ) के पथ पर सक्रीय रहने वालों को हम स्वतः ही अपना बना लेते हैं और बिना माँगे ही सब कुछ प्रदान कर देते हैं। ऐसे अवसरों को कभी भी गंवाना नही चाहिए। मैं स्वयं उपरोक्त साधना नियमित करता हूँ और गुरुदेव जी के द्वारा निर्देशित मार्ग का अक्षरशः पालन करने का प्रयास करता हूँ। आप लोग भी स्वयं पालन कीजिए और दूसरों को भी पालन करने के लिए प्रेरित अवश्य करें। गुरुदेव जी ने अनेक बार कहा है की आपको जन्म तो बार -बार प्राप्त हो सकता है पर मेरी सानिध्यता बार -बार प्राप्त नही होगी, अतः इस विशेष अवसर का अवश्य लाभ उठाएं।

जै माता की जै गुरुवर की

लेखक- शिव बहादुर सिंह फरीदाबाद (हरियाणा)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

ग्वालियर की समाजसेविका श्रीमती सुलेखा शर्मा बनी महिला संगठन की प्रदेश सचिव

मध्यप्रदेश। ब्रम्हलीन आचार्य श्री प्रभाकर मिश्र जी, नेपाल के संहिता शास्त्री स्वामी श्री अर्जुन प्रसाद बस्तोला जी संगठन...

प्रधान न्यायाधीश ने संप्रेक्षण गृह का निरीक्षण किया

छतरपुर जसं। प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश हृदेश श्रीवास्तव ने गुरुवार को संप्रेक्षण गृह, राजयश्री शिशु गृह तथा...

स्वच्छता सर्वेक्षण 2022 में मध्यप्रदेश को अग्रणी बनाये: मुख्यमंत्री श्री चौहान, सीवरेज परियोजनाओं के कार्य समय पर पूर्ण हो

छतरपुर जसं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश को वर्ष 2022 में स्वच्छता सर्वेक्षण में...

4 हजार से अधिक ग्रामों में घरों तक स्वच्छ पेयजल पहुँचाने के कार्यों का विधिवत होगा शुभारंभ

छतरपुर जसं। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि ग्रामों में पेयजल योजनाओं के संचालन और...

Recent Comments

%d bloggers like this: