Home शक्ति न्यूज़ खास विश्व पर्यावरण दिवस पर विशेष: इंसान के जीवन मे प्रकृति का महत्व:...

विश्व पर्यावरण दिवस पर विशेष: इंसान के जीवन मे प्रकृति का महत्व: श्रीमती मंजू द्विवेदी प्रबंध संपादक

डेस्क न्यूज। आज इंसान शायद यह भूल गया है कि इंसान को भगवान ने बनाया है। और इंसान का शरीर पंच तत्वों से मिलकर बना है। तथा भगवान ने हमे जीवित रहने के लिए पंच तत्वों का वातावरण भी दिया ताकि मनुष्य जाति जीवित रह सके। हमारा शरीर पंच तत्वों से बना है और पंच तत्वों की उपस्थिति में ही सुचारू रूप से जीवन चल सकता है। कोई एक तत्व की भी कमी होने पर मनुष्य जीवन खतरे में पढ़ जाता है।

जैसा कि 2 वर्षो से हम सब भुगत रहे है। ऑक्सीजन जिसे प्राण वायु ,जीवन दायनी ,कहा जाता है। जिसके कम होने पर कितने लोगो का जीवन समाप्त हो गया। क्या कभी किसी ने सोचा है यह सब क्यो हुआ। अरे हम इंसानों को भगवान ने बनाया है। और हमें जीवित रखने के लिए प्रकृति की रचना की। पर इंसानों ने तो उस भगवान की बनाई प्रकृति को ही मिटा डाला तो इंसान कैसे बच पायेगे। जब प्रकृति इंसान की पूरक है। जीवन का आधार है।


लोगो ने जंगल काट डाले पेड़ पौधे हरे भरे बगीचे मिटा डाले। सड़को के चौड़ीकरण के लिये आस पास के पेड़ काट दिये। लकड़ी के व्यवसाय को बढ़ाया पर वृक्षारोपण पर ध्यान ही नही दिया। सारे पेड़ काट कर धरती माता की हरी भरी गोद को सुना कर डाला तो कैसे यह सब धरती माता को सहन होता। नगरीकरण, औद्योगीकरण, विकास।

अरे किस चीज का विकास जब इंसान ही जीवित न रह पाये, तो किसका विकास किसलिये विकास। इंसानों का जीवन खतरे में आ गया घर उजड़ गये। क्या हुआ उस विकास का। पर कहि न कही सब लोग इसके जिम्मेदार है। हर इंसान को सजग रहना चाहियें जागरूक रहना चाहिए कि कही कुछ गलत हो रहा है तो उसको रोके गलत का विरोध करें। नही तो गलग को और बढ़ावा तो मिलता ही है। जो गलत नही कर रहे सजा तो उनको भी मिलती है। जिन लोगो ने जंगल कटवाये व्यवसाय किया उनकी तो कमाई हो गई पर जिन्होंने कुछ नही किया आज वह सब भी इसका परिणाम भुगत रहे है। कितने निर्दोष लोगों का जीवन संकट में पड़ गया।

अतः सभी लोगो को जाग्रत होने की जरूरत है। कि अब हम ऐसा नही होने देंगे। प्रकृति से छेड़छाड़ और प्राकृतिक चीजे जो हम सबके लिए भगवान ने दी है उन पर हम सबका हक है। किन्ही विशेष लोगो का नही। हम गलत नही होने देंगे। और हम सब संकल्प लें कि, अपने घर में आप पास हरा भरा रखेगे पेड़ पौधे लगाएंगे। उनकी देखभाल करेंगे और जहाँ कहि भी कोई इसके विपरीत कार्य करेगा उसका विरोध करेंगे।
हम सबका कर्तव्य है कि हम भगवान की बनाई अपनी प्रकृति की रक्षा सुरक्षा करेंगे अपने जीवन के लिए, औरों के जीवन के लिए और अपनी आने बाली पीढ़ी के लिए भी।

लेखक- श्रीमती मंजू द्विवेदी (प्रबंध संपादक शक्ति न्यूज)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

अच्छी खबर: श्री जटाशंकर धाम में 15 माह बाद श्रद्धालुओं के लिए खुले मंदिर के कपाट, जल चढ़ाकर किए लोगों ने दर्शन

मध्यप्रदेश छतरपुर जिले के बिजावर अनुविभाग अंतर्गत आने वालेप्रसिद्ध तीर्थ एवं पर्यटन स्थल श्री जटाशंकर धाम में...

गोयरा पुलिस ने कट्टा कारतूस के साथ एक आरोपी को किया गिरफ्तार

मध्यप्रदेश। छतरपुर पुलिस अधीक्षक सचिन शर्मा के निर्देशन में एसडीओपी लवकुशनगर पीएल प्रजापति के मार्गदर्शन मे थाना...

कोतवाली पुलिस द्वारा एक और चोरी की मोटरसाइकिल बरामद की गई

मध्यप्रदेश। छतरपुर जिले के थाना सिटी कोतवाली पुलिस ने सुरेंद्र सिंह परमार पिता हरपाल सिंह परमार उम्र...

जमीनी विवाद में दबंगों ने की मारपीट, पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया

उत्तरप्रदेश। हमीरपुर जिले के बिवाँर थाना क्षेत्र के बिभूनी गांव में दबंगों ने जमीनी विवाद के चलते...

Recent Comments

%d bloggers like this: