Home खबरों की खबर अन्य खबरे IPS मुकुल गोयल ने संभाला उत्तरप्रदेश DGP का चार्ज, पहले CM योगी...

IPS मुकुल गोयल ने संभाला उत्तरप्रदेश DGP का चार्ज, पहले CM योगी से की मिले फिर लिया DGP का चार्ज, कहा- अफसर फील्ड में दिखें- हर पीड़ित की हो सुनवाई, चुनाव 2022 के लिए बनाएंगे रणनीती

IPS मुकुल गोयल ने लखनऊ स्थित डीजीपी मुख्यालय में DGP का पदभार संभाला

साल 1987 बैच के IPS मुकुल गोयल ने शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक (DGP) का चार्ज संभाल लिया। लखनऊ पहुंचे IPS मुकुल गोयल ने पुलिस विभाग के मुखिया का कार्यभार संभालने से पहले हनुमान सेतु मंदिर में जाकर दर्शन-पूजन किया। इसके बाद उनके वाहनों का काफिला लोक भवन पहुंचा। यहां मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की। यहां से DGP मुख्यालय में पहुंचकर पदभार संभाला।

इस दौरान उन्होंने कहा कि पांच साल बाद लखनऊ आया हूं। हम पूरे पुलिस विभाग की मदद से कानून व्यवस्था को और सुदृढ़ करेंगे। हमारा क्राइम कंट्रोल मुख्य कर्तव्य है। पुलिस को और संवेदनशील बनकर जनता के पास जाना होगा। बता दें, प्रदेश सरकार ने बीते बुधवार को IPS मुकुल गोयल को प्रदेश के डीजीपी पद पर नियुक्त किया था। साल 1987 बैच के IPS मुकुल गोयल केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर बीएसएफ में एडीजी ऑपरेशन के पद पर तैनात थे।

धर्मांतरण के मामले में दोषियों को सजा होंगी-
वहीं, नवनियुक्त डीजीपी मुकुल गोयल ने बिकरु कांड पर कहा कि पुलिस और अपराधी के गठजोड़ की वजह से इतनी बड़ी घटना हुई थी। अब ऐसी घटनाएं फिर से न हो। आगामी विधानसभा चुनाव 2022 शांतिपूर्ण संपन्न करवाने के लिए रणनीति बनाई जाएगी। धर्मांतरण के मामले में दोषियों को सजा होगी। कोई भी निर्दोष जेल नहीं जाएगा। अफवाहों को रोकने के लिए सोशल मीडिया पर ठोस नियम बनाए जाएंगे। छोटे अपराधों को पुलिस नजरअंदाज करती है। इसलिए क्राइम बढ़ता है। पुलिस ज्यादा से ज्यादा समय फील्ड में दिखें और हर पीड़ित की सुनवाई हो।

छोटे-छोटे अपराधों को नजरंदाज न किया जाए-
नवनियुक्त डीजीपी ने कहा कि जब मैं एडीजी कानून व्यवस्था था, तब इस पुलिस मुख्यालय के लिए जमीन ली गई थी। आज यहां बैठकर अच्छा लग रहा है। छोटे-छोटे अपराधों को नजरंदाज न किया जाए। छोटे अपराधियों पर भी कार्रवाई हो। पुलिस कार्य में तकनीकक का इस्तेमाल जरूरी है। सभी अधिकारी फील्ड में जाएं। अधिकारी ज्यादा से ज्यादा जनता से मिलें।

साम्प्रदायिक हिंसा और विवाद को रोकने के लिए ठोस योजना
नवनियुक्त डीजीपी ने कहा कि स्मारक घोटाले में सभी आरोपियों को गिरफ्तार किया जाएगा। साइबर क्राइम को रोकने के लिए हर जोन में 18 थाने बने हैं। पुलिस को हाईटेक उपकरण और सॉफ्टवेयर मुहैया करवाए जा रहे हैं। साम्प्रदायिक हिंसा और विवाद को रोकने के लिए ठोस योजना बनेगी। महिला सुरक्षा के लिए महिला थाना, पिंक बूथ, महिला हेल्प डेस्क बने हैं और भी सुविधाओं को विकसित किया जाएगा।

यूपी सरकार ने जताया मुकुल गोयल पर भरोसा-
केंद्रीय गृह मंत्रालय ने गुरुवार को उनको बीएसएफ से रिलीव करने का आदेश जारी कर दिया गया। निवर्तमान डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी ने मंगलवार को भी चार्ज छोड़कर एडीजी कानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार को सौंप दिया। मुकुल गोयल को विधानसभा चुनाव में पूर्व डीजीपी पद की जिम्मेदारी सौंपकर यूपी सरकार ने उन पर भरोसा जताया है। उनके कार्यभार ग्रहण करने के बाद पुलिस विभाग में बड़े पैमाने पर प्रशासनिक फेरबदल की संभावना जताई जा रही है। खासकर कई डीजी और एडीजी रैंक के अफसरों अधिकारियों को इधर से उधर किया जा सकते है।

IIT दिल्ली से बीटेक और एमबीए भी हैं मुकुल
यूपी कैडर के 1987 बैच के IPS अफसर मुकुल गोयल मूल रूप से मुजफ्फरनगर के शामली के रहने वाले हैं। IPS मुकुल गोयल के पिता महेंद्र गोयल का 6 साल पहले ही निधन हो चुका है, जिनकी बुधवार को पुण्यतिथि भी है। इनकी हाईस्कूल तक की शिक्षा-दीक्षा झारखंड के जनपद धनबाद में हुई है। इनके परिवार में पत्नी सोनू गोयल व दो बेटियां हैं।

दोनों बेटियां अभी पढ़ रहीं हैं। वहीं, मां हेमलता गोयल, बहन शिखा (अमेरिका में रहतीं हैं) और छोटा भाई मोहित गोयल है। भाई वर्तमान में अपने परिवार के साथ मुंबई के एक कॉलेज में डीन हैं, जो पूर्व में नेवी में रह चुके हैं। धनबाद के बाद महेंद्र कुमार गोयल परिवार के साथ दिल्ली आ गए, यहां से मुकुल गोयल ने आगे IIT तक की शिक्षा ग्रहण की। इसके बाद वे सिविल सर्विसेज की तैयारी में जुट गए और IPS बने।

लंबा अनुभव यूपी चुनाव में आ सकता है कामयूपी कैडर के 1987 बैच के IPS अफसर मुकुल गोयल अपने कार्यकाल में आजमगढ़ के एसपी और वाराणसी, गोरखपुर, सहरानपुर, मेरठ जिलों के एसएसपी रह चुके हैं। मुकुल गोयल कानपुर, आगरा, बरेली रेंज के डीआईजी और बरेली जोन के आईजी भी रह चुके हैं।

इसके अलावा मुकुल गोयल केंद्र में भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल (ITBP), सीमा सुरक्षा बल (BSF), नेशनल डिजास्टर रिस्पांस फोर्स (NDRF) में भी काम कर चुके हैं। यूपी में एडीजी रेलवे, CB-CID और अखिलेश यादव की सरकार में यूपी के ADG (लॉ एंड ऑर्डर) भी रह चुके हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

बढ़ती महंगाई को लेकर महिला कांग्रेस ने छत्रसाल चौक कांग्रेस कार्यालय के बाहर बैठकर पहले सेकी रोटी,घरेलू गैस सिलेंडर पर पहनाई माला, फिर रोटी...

मध्यप्रदेश। छतरपुर जिला मुख्यालय पर महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सुषमा देवी के निर्देश पर महिला कांग्रेस...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह की गोद ली हुई 3 बेटियों की शादी आज, शिवराज सिंह चौहान पत्नी साधना सिंह के साथ करेंगे कन्यादान

तीनों दत्तक बेटियों के साथ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और उनकी पत्नी साधना सिंह।

प्रधानमंत्री ने नरेंद्र मोदी ने बाराणसी में कहा- कोरोना की दूसरी लहर को UP ने जिस तरह संभाला वह अभूतपूर्व है

उत्तरप्रदेश। वाराणसी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज काशी में हैं। यहां उन्होंने जापान और भारत की दोस्ती...

Recent Comments

%d bloggers like this: