Home मध्यप्रदेश मुरैना पुलिस को मिली बड़ी सफलता: ट्रक में स्टेशनरी के बीच में...

मुरैना पुलिस को मिली बड़ी सफलता: ट्रक में स्टेशनरी के बीच में छिपाकर ले जा रहे थे 13 क्विंटल गांजा, पुलिस ने जब्त किया, कीमत पौने 3 करोड़ बताई,ओडिशा से आ रहा था गांजा

मध्यप्रदेश। मुरैना जिले की जब से पुलिस अधीक्षक ललित शाक्यवार को मिली था तब से अपराधियों में हड़कंप मचा हुआ हैं अपनी तेजतर्रार छवि के रुप में पहचाने जाने वाले अधिकारी के जिले में पहुचते ही जिला पुलिस बल भी अपनी लचर कार्यप्रणाली सुधारने में जुटा हुआ है उसी का नतीजा है कि ओडिशा के कोरापुर से ट्रक में स्टेशनरी के बीच छिपा कर लाया जा रहा 13 क्विंटल गांजा मुरैना में पुलिस ने जब्त कर लिया।

यह गांजा मध्यप्रदेश के साथ-साथ उत्तर प्रदेश और राजस्थान में भेजे जाने की तैयारी थी। जिस ट्रक में गांजा लदा था, उसके साथ लग्जरी कार भी चल रही थी। एसपी ललित शाक्यवार ने बताया कि पुलिस ने रात को गांजे से भरा ट्रक पकड़ा है। बरामद गांजे की कीमत 2 करोड़ 70 लाख 70 हजार रुपए है।

एसपी ललित शाक्यवार ने बताया कि गत दिवस उन्हें सूचना मिली थी कि ट्रक (आरजे 11 जी ए 6619 ) एबी रोड पर ग्वालियर की तरफ से बामौर से होते हुए धौलपुर-आगरा की तरफ जाने वाला है। इसमें अवैध गांजा माल के बीच में भरा हुआ है। सूचना पाते ही आईजी चंबल जोन और डीआईजी को सूचना दी गई। इसके बाद तुरंत बामौर थाना पुलिस को अलर्ट किया गया। ट्रक के ट्रेस करने के लिए पुलिस लगा दी गई। रात के जैसे ही ट्रक बामौर पहुंचा पुलिस ने रोक लिया। ट्रक में पांच युवक सवार थे। उन्हें जैसे ही पकड़े जाने का अंदेशा हुआ,उनमें से तीन तुरंत ट्रक से कूद कर अंधेरे का लाभ उठाकर भाग गए। मौके पर पुलिस ने दो लोगों को पकड़ लिया है। दोनों आरोपी राजस्थान के हैं।

स्टेशनरी के बीच छिपा कर रखा था गांजा-


पुलिस ने जब ट्रक के अन्दर तलाशी ली तो उसमें स्टेशनरी भरी थी। जब स्टेशनरी को हटाकर देखा तो उसमें गांजा रखा मिला। गांजा बड़ी मात्रा में था। पकड़े गए लोगों ने बताया कि गांजा 13 क्विंटल से अधिक है।

गांजे की तीन राज्यों में होती है तस्करी-


पकड़े गए लोगों ने पुलिस को बताया कि उनके द्वारा लाए गए गांजे की सप्लाई मध्यप्रदेश के साथ-साथ उत्तर प्रदेश व राजस्थान में होती है। उन्होंने बताया कि एक रैकेट है, जो ओडिशा के कोरापुुर से गांजा लेकर आता है। इस बार भी 15 मई को वह ओडिशा गांजा लेने गए थे। वहां से वे छोटी-मोटी चीजों की डिलीवरी ले लेते हैं। डिलीवरी हरियाणा व दिल्ली की ही लेते हैं। बाद में उड़ीसा के कोरापुर क्षेत्र में जाकर वे अवैध गांजे को पांच किलोग्राम के बंडल पार्सल के रुप में बनवाते हैं।

उन बंडलो को प्लास्टिक की बोरियों में भरकर ट्रक में अन्य माल के नीचे छिपाकर लाते हैं। जब वे अवैध गांजा लेकर ओडिशा से चलते हैं, तो इन ट्रकों के आगे-पीछे महंगी चार पहिया वाहनों से रैकी की जाती हैं। इस तस्करी में कई लोग शामिल हैं, जो मादक पदार्थ बेचने वालों से आर्डर के रुप में रुपए एकत्रित कर एक बड़ी रकम गांजे की तस्करी में लगाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

बढ़ती महंगाई को लेकर महिला कांग्रेस ने छत्रसाल चौक कांग्रेस कार्यालय के बाहर बैठकर पहले सेकी रोटी,घरेलू गैस सिलेंडर पर पहनाई माला, फिर रोटी...

मध्यप्रदेश। छतरपुर जिला मुख्यालय पर महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सुषमा देवी के निर्देश पर महिला कांग्रेस...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह की गोद ली हुई 3 बेटियों की शादी आज, शिवराज सिंह चौहान पत्नी साधना सिंह के साथ करेंगे कन्यादान

तीनों दत्तक बेटियों के साथ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और उनकी पत्नी साधना सिंह।

प्रधानमंत्री ने नरेंद्र मोदी ने बाराणसी में कहा- कोरोना की दूसरी लहर को UP ने जिस तरह संभाला वह अभूतपूर्व है

उत्तरप्रदेश। वाराणसी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज काशी में हैं। यहां उन्होंने जापान और भारत की दोस्ती...

Recent Comments

%d bloggers like this: