Home शक्ति न्यूज़ खास प्रकृति हर पल हर क्षण हमें लाभ पहुँचा रही है, सूर्य के...

प्रकृति हर पल हर क्षण हमें लाभ पहुँचा रही है, सूर्य के प्रकाश के माध्यम से, हवा के माध्यम से नदियों के माध्यम से पेड़ पौधों के माध्यम से हम लोग लाभ प्राप्त कर रहे है, क्या हम लोग प्रकृति से सीखकर उन लोगों की सहायता नही कर सकते जिन्हे आज बहुत ज्यादा मदद की आवश्यकता है ?

डेस्क न्यूज। प्रकृति द्वारा हम लोगों को निरन्तर सहायता मिल रही है। हवा, पानी, प्रकाश, पेड़- पौधे हमारे आपके जीवन के लिए अत्यन्त आवश्यक हैं, जिनका हम लोग कोई मोल नही चुका रहे हैं।

हमें हर पल माँ गुरुवर के प्रति धन्यवाद का भाव रखना चाहिए ।आज हम लोग साँस ले रहे हैं वो भी माँ की कृपा के कारण ही सम्भव हो पा रहा है। हमने कभी भी नही सोचा कि हमारा भी कोई नैतिक कर्तव्य है कि हम लोग भी इस आपात काल में पीड़ित व्यक्तियों की सहायता करें। हमारे सामने अनेक माध्यम हैं जिनसे हम लोग परेशान लोगों की मदद कर सकते हैं। सर्व प्रथम हम लोग अगर कोई आफिस या कम्पनी चला रहे हैं तो उसमे कार्यरत सभी कर्मचारियों को वेतन जरूर दें। किसी प्रकार की कटौती बिल्कुल भी ना करें। किसी क़ो भी नौकरी से ना निकालें।

इस महामारी में अनेक ऐसे लोगों की मृत्यु हो गयी जिनके पास अकूत सम्पत्ति थी पर उनके कोई काम ना आ सकी। इस बात से सीख लेनी होगी की जो भी वाजिब वेतन या मेहनताना बने हमें तत्काल दे देना चाहिए। मानवता की सेवा ही इस समय की सर्वोच्च सेवा है। जब हम किसी पीड़ित या परेशान व्यक्ति की सहायता करते हैं तो हम माँ जगदम्बे की कृपा के पात्र बन जाते हैं। अपने घरों में कार्यरत व्यक्तियों को मुफ्त में राशन दिलाकर हम उनकी सहायता कर सकते हैं। अपने सम्पर्क में आने वाले गरीब व्यक्तियों की मदद करके हम पुण्य अर्जित कर सकते हैं।

कई लोग कहते हैं की हम सक्षम ही नही हैं कि किसी की भी मदद कर सकें। य़े हमारी न्यूनता ही है जो हम ऐसा सोचते हैं। किसी क़ो एक समय का भोजन खिलाकर, चाय पिलाकर, आर्थिक मदद देकर, नौकरी पर रखकर, कपड़े इत्यादि दिलाकर, दवा दिलाकर अनेक माध्यमों से हम किसी की भी सहायता कर सकते हैं। मदद करने के लिए पैसों से ज्यादा इच्छा शक्ति की जरूरत होती है। नियत सही हो तो किन्ही भी परिस्थितियों में लोगों की सहायता कर सकते हैं।

आज समय की बेहद माँग है की हम लोग अपनी-अपनी क्षमता के अनुसार मानवता की सेवा करें।इतनी बड़ी आपदा आयी जो कई परिवारों क़ो तबाह करके रख दिया। जिनके घर के किसी सदस्य की मृत्यु हो गयी होगीआज उन परिवारों पर क्या गुजर रही होगी। जरा कल्पना करके देखिए। इसके विपरीत आज कई लोग लूट खसोट में भी लिप्त हैं। य़े सरासर गलत है। किसी भी प्रकार के अनैतिक कार्यों क़ो अन्जाम ना दें। गुरुदेव श्री शक्ति पुत्र जी महाराज जी ने स्पष्ट कहा है की आप लोग अगर चार घंटे पूजा पाठ करते हों तो एक घंटे ही करें पर जन कल्याण के कार्यों मे ज्यादा समय दीजिए।प्रकृति का विधान है की हम लोग जरुरतमंद लोगों के काम आएं। माँ गुरुवर का आशिर्वाद प्राप्त करने का य़े सबसे सशक्त माध्यम है।

जै माता की जै गुरुवर की

लेखक- शिव बहादुर सिंह फरीदाबाद (हरियाणा)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

तेज रफ्तार बाइक अनियंत्रित होकर पेड़ से टकराई, बाइक सवार की मौत, ससुराल जा रहा था युवक

तेज रफ्तार बाइक अनियंत्रित होकर सड़क किनारे स्थित पेड़ से जा टकराई, जिसके चलते बाइक सवार युवक की मौके ही मौत...

लोक निर्माण विभाग में हुए भ्रष्टाचार की होगी जांच, लोक निर्माण राज्यमंत्री सुरेश धाकड़ ने दिए जांच के आदेश

लोक निर्माण राज्यमंत्री ने जांच के दिए आदेश मध्यप्रदेश। टीकमगढ़ जिले में 28 मई...

रोडवेज बस से कुचले बच्चे की मौत, सड़क पर शव ऱखकर जमकर काटा हंगामा

उत्तरप्रदेश। हमीरपुर जिले में बीते रविवार को सदर कोतवाली क्षेत्र के बस स्टैंड में कुरारा की ओर...

कोविड-19 वैक्सीन महाअभियान गढ़ीमलहरा में निकली रैली

छतरपुर ज.सं। कोरोना संक्रमण से बचाव एवं कोविड-19 संक्रमण के वैक्सीनेशन के प्रति लोगो को लोगो को...

Recent Comments

%d bloggers like this: