Home उत्तरप्रदेश महोबा के पूर्व एसपी पर एक लाख का इनाम, प्रयागराज पुलिस ने...

महोबा के पूर्व एसपी पर एक लाख का इनाम, प्रयागराज पुलिस ने घोषित की रकम, 9 महीने से फरार हैं IPS मणिलाल पाटीदार, महोबा के क्रेशर कारोबारी को आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप

उतरप्रदेश। महोबा जिले के कप्तान रहे निलंबित 2014 बैच आईपीएस मणिलाल पाटीदार पर एडीजी जोन प्रयागराज ने 1 लाख रुपए का इनाम घोषित किया है। महोबा में कारोबारी की हत्या के मामले में दर्ज मुकदमे के पास से मणिलाल फरार चल रहे हैं। इससे पहले उन पर पचास हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया था। हालांकि पुलिस अभी तक मणिलाल का पता लगाने में नाकाम रही है। हालांकि दैनिक भास्कर ने 5 दिन पहले ही इस बात का खुलासा कर दिया था कि प्रयागराज पुलिस पूर्व आईपीएस पर एक लाख रुपए का इनाम रखने वाली है।

महोबा में इंद्रकांत की हत्या के बाद शासन के द्वारा बैठाई गई एसआईटी की जांच में मणिलाल को भ्रष्टाचार में लिप्त होने और इंद्रकांत को आत्महत्या के लिए मजबूर किए जाने का दोषी बताया गया। बीते साल ही फिलहाल इसके बाद निलंबित होने और मुकदमा दर्ज होने के बाद से ही वह फरार हैं।

मरने से पहले क्रेशर व्यापारी ने जारी किया था वीडियो-


महोबा जिले के क्रेशर कारोबारी इंद्रकांत त्रिपाठी को पिछले साल 8 सितंबर को संदिग्ध परिस्थितियों में गोली लगी थी। करीब 5 दिन तक कानपुर के एक अस्पताल में इलाज के बाद उनकी 13 सितंबर को मौत हो गई। इससे पूर्व 7 सितंबर को इंद्रकांत ने एक वीडियो जारी कर पाटीदार पर संगीन आरोप लगाते हुए खुद की हत्या की आशंका जताई थी।

आरोप लगाया था कि पाटीदार ने कारोबार करने के लिए 6 लाख रुपए की रिश्वत मांगी थी। न देने पर हत्या कराने या जेल भेजने की धमकी दी थी। इंद्रकांत की मौत के बाद उनके भाई रविकांत ने महोबा के पूर्व एसपी मणिलाल पाटीदार, कबरई थाने के तत्कालीन इंस्पेक्टर देवेंद्र व कांस्टेबल अरुण और दो अन्य के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

कौन है मणिलाल पाटीदार-


महोबा जिले में एसपी रहते हुए मणिलाल पाटीदार ने जनता से जमकर उगाही की। अभी उसे नौकरी करते हुए कुछ महीने ही हुए थे लेकिन उस पर वसूली और रिश्वत के गंभीर आरोप लगने लगे वो बदनाम होने लगा। इसी दौरान मणिलाल ने महोबा के एक क्रेशर कारोबारी इन्द्रकांत त्रिपाठी से रिश्वत मांगी।

एसपी मणिलाल ने उससे 6 लाख रुपये हर महीने देने की मांग की क्रेशर व्यवसायी ने रुपये देने से इंकार कर दिया. मणिलाल ने उसे प्रताड़ित करना शुरू कर दिया। उसका कारोबार बंद कराने की कोशिश की जाने लगी। उसके ठिकानों पर छापेमारी की गई। उस कारोबारी को इतना परेशान किया गया कि उसने खुद को गोली मारकर खुदकुशी कर ली थी।

(महोबा ब्यूरो अखिलेश शिवहरे)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

रोडवेज बस से कुचले बच्चे की मौत, सड़क पर शव ऱखकर जमकर काटा हंगामा

उत्तरप्रदेश। हमीरपुर जिले में बीते रविवार को सदर कोतवाली क्षेत्र के बस स्टैंड में कुरारा की ओर...

कोविड-19 वैक्सीन महाअभियान गढ़ीमलहरा में निकली रैली

छतरपुर ज.सं। कोरोना संक्रमण से बचाव एवं कोविड-19 संक्रमण के वैक्सीनेशन के प्रति लोगो को लोगो को...

एक संक्रमित हुआ डिस्चार्ज

छतरपुर ज.सं। छतरपुर जिले में शनिवार को 01 कोविड संक्रमित मरीज को खजुराहो कोविड केयर सेंटर से...

प्राचार्य ने टीकाकरण कराने की अपील की

छतरपुर ज.सं। शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय क्रमांक-1 छतरपुर के प्राचार्य एस.के. उपाध्याय ने छात्रों, उनके माता-पिता सहित जिले...

Recent Comments

%d bloggers like this: