Home छत्तीसगढ़ पुलिस ने किया नक्सलियों के शहरी नेटवर्क को ध्वस्त, जेल से चल...

पुलिस ने किया नक्सलियों के शहरी नेटवर्क को ध्वस्त, जेल से चल रहा था नक्सलियों का शहरी नेटवर्क, रामानुजगंज जेल में बंद सरगना लड़ चुका है लोकसभा चुनाव, पुलिस ने उसके बेटे और ढाबा संचालक को गिरफ्तार किया तो हुआ बड़ा खुलासा

छत्तीसगढ़। बलरामपुर जिले में पुलिस ने नक्सलियों के शहरी नेटवर्क को ध्वस्त कर दिया है। दरअसल, 6 दिन पहले सूचना के बाद पुलिस ने बघिमा के एक ढाबा से नक्सली अनिल यादव को गिरफ्तार किया था। इस दौरान वहां से हथियार और शराब बरामद हुई थी।

गिरफ्तार किया गया ढाबा संचालक रविंद्र।

इसके बाद पुलिस ढाबा संचालक रविंद्र शर्मा के नक्सलियों के नेटवर्क से जुड़े होने की जांच कर रही थी। जांच में रविंद्र के नक्सलियों के शहरी नेटवर्क से जुड़े होने की बात सामने आई। उसे सोमवार को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई। उसकी निशानदेही पर पुलिस ने जिलेटिन, वायर, डेटोनेटर बरामद किया गया। उसे पुलिस रिमांड पर लेकर डिटेल पूछताछ कर रही है।

2019 में सामरी क्षेत्र में आगजनी मामले में फरार चल रहे नक्सली अनिल यादव 25 मई को गिरफ्तार किया गया था।

बरियों पुलिस को 25 मई को सूचना मिली थी आगजनी मामले में फरार चल रहा वारंटी नक्सली अनिल यादव बघिमा मुख्य मार्ग पर रविंद्र शर्मा के ढाबे में पहुंचा है। इसके बाद पुलिस ने मौके पर दबिश देकर अनिल को गिरफ्तार किया था।

जेल में बंद रंजन है लीडर-


पूछताछ में बड़ा खुलासा ये हुआ कि रविंद्र, नक्सली अनिल के पिता रंजन यादव के इशारे पर ही शहरी नेटवर्क संचालित कर रहा है। रविंंद्र नक्सलियों के शहरी नेटवर्क का मुख्य सूत्रधार है। रंजन जेल से रविंद्र को नक्सलियों को सामान, शराब, विस्फोटक पहुंचाने का आदेश देता है। यह सामान नक्सली उसके ढाबे से ले जाते हैं। पिछले दिनों रविन्द्र ने दवाएं और मेडिकल इस्तेमाल की चीजें भी नक्सलियों को दी है। उसके साथ कुछ और लोग भी इस काम में लगे हुए हैं। पुलिस इनकी जानकारी ले रही है। नक्सलियों की मदद के बदले इन लोगों को पैसा दिया जाता है। पुलिस को रविंद्र से पूछताछ में और भी जानकारी मिलने की संभावना है। गिरफ्तार किया गया रविंद्र भी झारखंड का रहने वाला है।

चुनाव भी लड़ चुका है रंजन यादव-


अनिल 2019 में सामरी थाना क्षेत्र में वाहनों में हुई आगजनी मामले में फरार चल रहा था। जिसे 25 मई को रविंद्र के ढाबे से गिरफ्तार किया गया था। नक्सली अनिल झारखंड का रहने वाला है और उसका पिता भी नक्सली था जो अभी रामानुजगंज जेल में बंद है। अनिल के पिता रंजन यादव के बारे में चौंकाने वाली बात भी सामने आई है। पता चला है कि रंजन झारखंड से एक बार लोकसभा चुनाव और 2 बार विधानसभा का भी चुनाव लड़ चुका है। उसके खिलाफ छत्तीसगढ़ और झारखंड में लूट, आगजनी के कई मामले दर्ज हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

रोडवेज बस से कुचले बच्चे की मौत, सड़क पर शव ऱखकर जमकर काटा हंगामा

उत्तरप्रदेश। हमीरपुर जिले में बीते रविवार को सदर कोतवाली क्षेत्र के बस स्टैंड में कुरारा की ओर...

कोविड-19 वैक्सीन महाअभियान गढ़ीमलहरा में निकली रैली

छतरपुर ज.सं। कोरोना संक्रमण से बचाव एवं कोविड-19 संक्रमण के वैक्सीनेशन के प्रति लोगो को लोगो को...

एक संक्रमित हुआ डिस्चार्ज

छतरपुर ज.सं। छतरपुर जिले में शनिवार को 01 कोविड संक्रमित मरीज को खजुराहो कोविड केयर सेंटर से...

प्राचार्य ने टीकाकरण कराने की अपील की

छतरपुर ज.सं। शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय क्रमांक-1 छतरपुर के प्राचार्य एस.के. उपाध्याय ने छात्रों, उनके माता-पिता सहित जिले...

Recent Comments

%d bloggers like this: