Home खबरों की खबर आज के युवा वर्ग में बर्दाश्त करने क़ी क्षमता धीरे-धीरे समाप्त होती...

आज के युवा वर्ग में बर्दाश्त करने क़ी क्षमता धीरे-धीरे समाप्त होती जा रही है। समाज के लिए ये एक गम्भीर चिंता का विषय है

लेखक- शिव बहादुर सिंह फरीदाबाद (हरियाणा)

डेस्क न्यूज। हमारे बच्चों के अन्दर किसी क़ी बात सुनने क़ी औऱ उसको बर्दाश्त करने क़ी क्षमता बिल्कुल ही खत्म होती जा रही है। माँ बाप हों या कोई भी हो अपने बच्चे क़ो डाँटना तो दूर समझाना भी चाहते हैं तो बच्चे बुरा मान जाते हैं। अगर किसी ने अपने बच्चों क़ी पिटाई कर दी तो समझिए क़ी तूफान आ गया। बच्चों में ये गलत प्रवृत्ति पैदा हो रही है। कोई भी अभिभावक अपने बच्चों के हित के लिए ही डांटते हैं या समझाते हैं।

कई बच्चे इतना ज्यादा बुरा मान जाते हैं क़ी या तो घर छोड़कर भाग जाने क़ी धमकी देते हैं या कोई आत्मघाती कदम उठा लेते हैं। बड़ी गलत बात है क़ी आपके अपने माता पिता आपकी भलाई के लिए आपको समझाते हैं या डांटते हैं तो इसमें बुरा मानने क़ी क्या आवश्यकता है।

बच्चों क़ो सदैव याद रखना है क़ी किसी भी सूरत में कोई भी गलत कदम कभी नही उठाना चाहिए। अगर आपको लगता है क़ी आपके साथ गलत हो रहा है तो आप अपने अभिभावक से सीधे बात कर लीजिए अगर ऐसा सम्भव ना हो तो किसी के माध्यम से आप अपनी बात उन तक पहुँचा दीजिए। जीवन क़ी हर समस्या का समाधान शान्ति पूर्वक भी निकाला जा सकता है।

बात-बात पर मर जाने क़ी धमकी देना एक कायरता है। कमजोर लोग़ ही आत्महत्या करते हैं। आत्महत्या किसी भी समस्या का हल हो ही नही सकता है। जो लोग़ डरपोक होते हैं वो लोग़ ही ऐसा करते हैं। सुनने क़ी क्षमता विकसित कीजिए। माता पिता से कभी भी बहस ना कीजिए। आप अपनी बात शान्त तरीके से भी रख सकते हैं। माता पिता क़ो भी किसी छोटी सी बात क़ो इतना तूल नही देना चाहिए क़ी बवंडर बन जाए। समय बदल रहा है। समय क़ो पहचानकर कोई भी कार्य करना है। हमेशा बच्चों के पीछे मत पड़ें। ऐसा करेंगे तो बच्चे चिड़चिड़े हो जाएंगे। बात कहने के लहजे क़ो हमें बदलना होगा।

बच्चों में सहने क़ी शक्ति ना होने के लिए सबसे ज्यादा जिम्मेदार उनके माँ बाप ही हैं। प्रारम्भ से ही धर्म-अध्यात्म के मार्ग से बच्चों क़ो दूर रखने के कारण ही ऐसा हो रहा है। धर्म से धैर्य उत्पन्न होता है। आजकल के युवा वर्ग मैं धैर्य क़ी नितान्त कमी है। गुरुवर जी क़ी विचारधारा से बच्चों क़ो शुरू से ही जोड़ दीजिए। ऐसा नही क़ी सारे बच्चे ही ऐसा करते हैं। जो बच्चे गुरुवर जी द्वारा निर्देशित मार्ग का पालन कर रहे हैं उन बच्चों का शानदार भविष्य है।

जो बच्चेआज माता पिता क़ी अवहेलना कर रहे हैं या बदतमीजी से जवाब दे देते हैं वो बच्चे ये क्यूँ भूल जाते हैं क़ी कल वो स्वयं माता पिता बनेंगे औऱ उनके खुद के बच्चे उनके साथ ऐसा करेंगे तो उनके स्वयं के ऊपर क्या गुजरेगी? आज के माँ बाप तो सब कुछ सह लेते हैं पर आने वाली पीढ़ी बर्दाश्त नही कर पाएगी।

बच्चों क़ो दुर्गा चालीसा का पाठ कराइए। बहुत बड़ा लाभ प्राप्त होगा। हमने एक बात नोटिस किया है क़ी कुछ अभिभावक अपने स्वयं तो सब कुछ क्रम में जाते हैं पर अपनी पत्नी औऱ बच्चों क़ो इससे वंचित रखते हैं। अपने स्वयं के परिवार क़ो इतने बड़े लाभ से दूर रखना कत्तई उचित नही है। कई लोग़ अपने बच्चों क़ो व्रत नही रखवाते हैं। कई लोग़ गुरुवर जी के क्रमों क़ो नही कराते हैं। कई लोग़ अपने बच्चों क़ो महा आरती औऱ शिविर में नही ले जाते हैं।

ऐसा करके हम अपने परिवार के सदस्यों के साथ नाइंसाफी कर रहे हैं। इतने बड़े बड़े लाभ के क्रमों से वंचित कर देना अच्छी बात नही है। अगर हम अपने परिवार के हितैषी हैं तो संगठन के प्रत्येक क्रमों में सभी क़ो साथ लेकर जाइए। कई लोग़ कहते हैं क़ी हम इतने वर्षों से संगठन से जुड़े हैं मगर हमको कोई लाभ नही हुआ। आप अगर सच्ची निष्ठा से सभी क्रमों का पालन नही करेंगे तो आप कैसे लाभ प्राप्त कर पाएँगे। आंशिक कार्यो से आंशिक लाभ ही मिलेगा। पूर्ण लाभ प्राप्त करने के लिए गुरुवर जी द्वारा बताए हुए प्रत्येक क्रमों का पालन सच्ची निष्ठा से करना ही होगा।

जै माता क़ी जै गुरुवर क़ी

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

मध्यप्रदेश के न्यायालयों में नौकरी का मौका, 1255 पदों के लिए ऑनलाइन मंगाए आवेदन, 30 दिसंबर आखिरी तारीख, पढ़िए कैसे करें अप्लाई

मध्यप्रदेश। मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय ने प्रदेश भर में न्यायालयों में बम्पर भर्ती निकाली है। स्टेनोग्राफर सहित अन्य...

ब्रेकिंग न्यूज: 13 IPS के अधिकारियों के हुए तबादले, कैलाश मकवाना बनाए गए पुलिस हाउसिंग कार्पोरेशन के अध्यक्ष, भिंड और सागर एसपी को हटाया

भोपाल। राज्य सरकार ने बुधवार को 13 आईपीएस अफसरों के तबादले कर दिए हैं। आईपीएस कैलाश मकवाना को...

युबक की संगिध हालत में मिली लाश परिजनों ने हाइवे पर जाम लगाया परिजनों हत्या का मामला दर्ज करने की मांग

मध्यप्रदेश। छतरपुर जिले के बमीठा थाना अंतर्गत ग्राम खरयानी में एक युबक की संगिध हालत में लाश मिली...

Recent Comments

%d bloggers like this: